Wednesday , October 18 2017
Home / Hyderabad News / मुस्लमान नाम निहाद का दयानी इबादतगाहों में ईद की नमाज़ ना पढ़ें

मुस्लमान नाम निहाद का दयानी इबादतगाहों में ईद की नमाज़ ना पढ़ें

मजलिस तहफ़्फ़ुज़ ख़तन नबुव्वत ट्रस्ट आंध्र प्रदेश ने अपने सहाफ़ती ब्यान में कहा के तमाम मुस्लिम जमातों के उल्मा दीन-ओ-मफ़तयान शिरा मतीन के मुत्तफ़िक़ा फ़तवा के मुताबिक़ कादयानी फ़िर्क़ा दायरा इस्लाम से ख़ारिज काफ़िर और मुर्तद है।

मजलिस तहफ़्फ़ुज़ ख़तन नबुव्वत ट्रस्ट आंध्र प्रदेश ने अपने सहाफ़ती ब्यान में कहा के तमाम मुस्लिम जमातों के उल्मा दीन-ओ-मफ़तयान शिरा मतीन के मुत्तफ़िक़ा फ़तवा के मुताबिक़ कादयानी फ़िर्क़ा दायरा इस्लाम से ख़ारिज काफ़िर और मुर्तद है।

इस लिए के ये गुमराह फ़िर्क़ा नबी करीम (स०अ०व०)को आख़िरी नबी नहीं मानते, हर हर चीज़ और हरिहर बात में मुस्लमानों से इस काफ़िर फ़िर्क़ा का इख़तेलाफ़ है। इस के बावजूद महिज़ धोका और फ़रेब देने के लिए इस फ़िर्क़ा के अफ़राद का ख़ुद को अहमदिया मुस्लिम जमात और अहमदी मुस्लमान कहते हैं और अपने कुफ्र इर्तिदाद के अड्डों को मस्जिद का नाम देते हैं।

हम बिरादरान इस्लाम से अपील करते हैं के वो का दयानी फ़िर्क़ा के धोख और फ़रेब में ना आएं। इन की फ़ित्ना परदाज़ियों से होशयार रहें, ईद की नमाज़ उन की नाम निहाद इबादतगाहों में ना पढ़ें।फ़लक नुमा, अफ़ज़ल गंज, सईदा बाद, मौला अली में इस फ़िर्क़ा की नाम निहाद इबादत गाहैं हैं।

TOPPOPULARRECENT