Sunday , October 22 2017
Home / Khaas Khabar / मुस्लिम खातून को ओपेरा से बाहर निकाला गया!

मुस्लिम खातून को ओपेरा से बाहर निकाला गया!

फ्रांस की समाजवादी पार्टी ने चेहरा नहीं ढ़कने की इज़ाज़त देने वाले अपने कानून को और सख्त करने का फैसला लिया है, इससे जुड़े एक वाकिया में बुर्क़ा पहने एक मुस्लिम खातून को जबर्दस्ती एक बड़े ओपेरा हाउस से बाहर निकाल दिया गया| इस मामले प

फ्रांस की समाजवादी पार्टी ने चेहरा नहीं ढ़कने की इज़ाज़त देने वाले अपने कानून को और सख्त करने का फैसला लिया है, इससे जुड़े एक वाकिया में बुर्क़ा पहने एक मुस्लिम खातून को जबर्दस्ती एक बड़े ओपेरा हाउस से बाहर निकाल दिया गया| इस मामले पर फ्रांस की लिबरल आर्ट कम्युनिटी की राय बंटी हुई है| दरअसल हुआ ये कि ‘ला ट्रिविया’ नाम के ग्रुप ने एक ऐसी खातून के सामने परफॉर्म करने से मना कर दिया जो बुर्क़े में वहां मौजूद थी|

बैस्टिल ओपेरा के डायरेक्टर जेन फिलिप ने कहा, “दूसरे एक्ट के दौरान एक सिंगर का ध्यान पहली कतार में बैठी इस खातून की ओर गया| कुछ फंकारो ने कहा कि वो नहीं गाना चाहते हैं|” इसके बाद डायरेक्टर ने यह तय किया कि बुर्क़े वाली खातून को धक्के मारकर बाहर निकाला जाए| साल 2011 से एक कानून के आने के बाद से फ्रांस में मुस्लिम ख्वातीन को बुर्क़ा पहनना मना है|

लेकिन यह अपनी तरह का पहला मौका है जब किसी बुर्क़े वाली खातून को पब्लिक इवेंट से धक्के मारकर बाहर निकाला गया है| अभी तक खातून के नाम का पता नहीं चल पाया है लेकिन यह इत्तेला है कि खातूम खाड़ी मुल्क से जुड़ी है और अमीर खानदान से ताल्लुक रखती है| ओपेरा के डायरेक्टर ने गार्ड्स को हिदायत दिया कि वो खातून से या तो उसका नकाब उतारने को कहें या बाहर जाने को कहें|

खातून को जबर्दस्ती बाहर निकाले जाने पर ओपेरा हाउस में मौजूद एक शख्स ने कहा कि चेहरा ढ़क कर लोगों के बीच चुप-चाप बैठी खातून किसी का क्या बुरा कर सकती है| खातून को इससे गहरा धक्का लग सकता है| फ्रांस की शखाफत (कल्चर) को थोड़ा सहने के काबिल होना चाहिए| उसने कहा कि यह थिएटर का काम नहीं है कि वो कानून का अमल करवाए| तीन अक्टूबर को पेश आयी यह वाकिया अब बड़ी बहस का मुद्दा बन रही है|

कानूनी तौर पर खातून को इसके लिए जुर्माना भी भरना पड़ेगा| मुल्क की मिनिस्ट्री आफ कल्चर के एक तरजुमान ने कहा कि वो नए नियम बनाएंगे जिससे बुर्क़े पर बैन को आवामी मुकामात पर सख्ती तौर से लागू किया जा सके| बुर्क़े पर बैन लगाने वाला फ्रांस पहला यूरोपियन मुल्क है| मुल्क में 5 मिलियन मुस्लिम रहते हैं|

TOPPOPULARRECENT