Saturday , August 19 2017
Home / Khaas Khabar / मुस्लिम जज ‘न्यूट्रल’ नहीं हो सकता: डोनाल्ड ट्रम्प

मुस्लिम जज ‘न्यूट्रल’ नहीं हो सकता: डोनाल्ड ट्रम्प

U.S. Republican presidential candidate Donald Trump points to a member of the media following a news conference at Trump Tower in the Manhattan borough of New York, U.S., May 31, 2016. REUTERS/Carlo Allegri

वाशिंगटन : मुसलमानों के बारे में नफरत और घृणा पर आधारित भावना के लिए प्रसिद्ध अमेरिकी राष्ट्रपति उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रम्प ने अपने एक ताजा बयान में कहा है कि “कोई मुसलमान न्यायाधीश कभी तटस्थ नहीं हो सकता।”

अल अरबिया डॉट नेट के अनुसार डोनाल्ड ट्रम्प की जानिब से मुस्लिम न्यायाधीश जानिब्दारियत को संदिग्ध करार देने का बयान ऐसे समय में आया है जब वह पहले मेक्सिको से संबंधित एक न्यायाधीश पर’ तरफदारी  ‘का आरोप आयद कर चुके हैं । अमेरिकी न्यायाधीश जिसके माता पिता मेक्सिको से संबंधित डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा स्थापित एक विश्वविद्यालय के खिलाफ दायर एक मामले की सुनवाई कर रहे हैं। ट्रम्प के इस विवादित बयान पर अमेरिकी राजनीतिक हलकों यहां तक कि उनकी अपनी पार्टी रिपब्लिकन की ओर से भी कड़ी प्रतिक्रिया सामने आया है।

जानकारी के अनुसार डोनाल्ड ट्रम्प ने मुस्लिम न्यायाधीश की गैर पक्षपात पर संदेह व्यक्त ‘सीबीएस’ टीवी कार्यक्रम ‘फीस दी नेशन’ में एंकर प्रसन् जून डिकोरसीन के सवाल के जवाब में किया। श्री डिकोरसीन ने ट्रम्प  से पूछा कि आप मुसलमानों के अमेरिका में प्रवेश के संबंध में सख्त रुख रखते हैं। अगर अमेरिका में कोई व्यक्ति किसी अदालत के जज बन जाए और वे अपने किसी मामले की सुनवाई करे तो आप यह महसूस करेंगे कि वे अपने साथ न्याय नहीं कर रहा है? इस सवाल पर डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि हां ऐसा बहुत हद तक संभव है और मैं जोर देकर कहता हूं कि मुस्लिम न्यायाधीश तटस्थ नहीं हो सकता। ”

टीवी होस्ट ने दूसरा सवाल पूछा कि ‘मगर अमरीका में किसी व्यक्ति को उसके माता पिता, धर्म या विश्वास के आधार पर बड़े पदों पर तैनाती से रोकने की कोई परंपरा तो मौजूद नहीं’। इस पर ट्रम्प ने कहा कि मुझे परंपराओं में कोई दिलचस्पी नहीं, मैं केवल तर्क और तर्क की भाषा जानता हूँ।

गौरतलब है कि डोनाल्ड ट्रम्प के मुसलमानों और मेक्सिको के निवासियों के बारे में विचार किसी से ढके छिपे नहीं हैं। कुछ महीने पहले जब उन्होंने राष्ट्रपति चुनाव के लिए अभियान शुरू किया तो उन्होंने कहा था कि ‘राष्ट्रपति चुनकर अमेरिका में मौजूद मेक्सिको के सभी अवैध निवासियों को यहाँ से निकाल बाहर करूँगा। अमेरिका और मेक्सिको की सीमा पर एक दीवार का निर्माण करूँगा और लागत भी मेक्सिको से प्राप्त करेंगे। उनके इस बयान के बाद अमेरिका के सख्तगीर हलकों में डोनाल्ड ट्रम्प की लोकप्रियता बढ़ गई थी।

डोनाल्ड ट्रम्प के ताजा बयान पर टिप्पणी करते हुए रिपब्लिकन सदस्य सेंट मैच मकोनील ने कहा कि अगर डोनाल्ड ट्रम्प की बात को सही मान लें तो वह सीधे सीधे नस्लवादी बात है। मगर मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूँ कि सभी अमेरिकी तो दूसरे देशों से ही आए हैं और उन्होंने अमेरिका का निर्माण विकास में अपना योगदान दिया है।

ट्रम्प के एक समर्थक और पूर्व राष्ट्रपति उम्मीदवार न्यूट गनगरैच का कहना है कि किसी न्यायाधीश को मुसलमान या मेक्सिको का निवासी होने की वजह से जानिबदार करार देने का कोई औचित्य नहीं है। अमरीका में ऐसी तर्क को कोई भी स्वीकार नहीं करेगा।

TOPPOPULARRECENT