Friday , October 20 2017
Home / Hyderabad News / मुस्लिम नौजवानों की एनकाउंटर में हलाकत वाक़िया की सख़्त मुज़म्मत

मुस्लिम नौजवानों की एनकाउंटर में हलाकत वाक़िया की सख़्त मुज़म्मत

यूनाइटेड मुस्लिम फ़ोरम की मुत्तहदा मजलिसे अमल ने नलगोन्डा में 5 ज़ेरे दरयाफ़्त मुस्लिम नौजवानों की इन्काउंटर में हलाकत के वाक़िया की सख़्त अलफ़ाज़ में मुज़म्मत की है। मजलिसे अमल का हंगामी इजलास आज हैदराबाद में मुनाक़िद हुआ जिस में इस

यूनाइटेड मुस्लिम फ़ोरम की मुत्तहदा मजलिसे अमल ने नलगोन्डा में 5 ज़ेरे दरयाफ़्त मुस्लिम नौजवानों की इन्काउंटर में हलाकत के वाक़िया की सख़्त अलफ़ाज़ में मुज़म्मत की है। मजलिसे अमल का हंगामी इजलास आज हैदराबाद में मुनाक़िद हुआ जिस में इस मुबय्यना फ़र्ज़ी इन्काउंटर की सी बी आई या फिर हाईकोर्ट के बरसरे ख़िदमत जज के ज़रीए तहकीकात का मुतालिबा किया।

मुत्तहदा मजलिसे अमल ने इस वाक़िया के सिलसिला में गवर्नर और चीफ मिनिस्टर से नुमाइंदगी का भी फैसला किया है और मुलाक़ात के लिए वक़्त तलब किया गया है। जनाब मुहम्मद अबदुर्रहीम कुरैशी कन्वीनर मुत्तहदा मजलिसे अमल और सदर तामीरे मिल्लत ने अख़बारी नुमाइंदों से बात चीत करते हुए कहा कि पाँच मुस्लिम नौजवानों को इन्काउंटर में हलाकत पुलिस की जानिब से सफ़ाकाना क़त्ल है और उसे हक़ीक़ी इन्काउंटर साबित करने की पुलिस की कहानी को हरगिज़ क़ुबूल नहीं किया जा सकता।

उन्हों ने कहा कि मजलिसे अमल ने गुज़िश्ता दिनों सूर्यपेट में बाअज़ गैर समाजी अनासिर के हाथों पुलिस मुलाज़मीन की हलाकत की भी यक्साँ तौर पर मुज़म्मत की है। उन्हों ने कहा कि आंध्र प्रदेश में टामिलनाडू सरहद के करीब पुलिस इन्काउंटर में 20 अफ़राद को हलाकत की भी इजलास में मुज़म्मत की गई।

उन्हों ने कहा कि ज़ेरे दरयाफ़्त मुस्लिम कैदियों पर पुलिस से हथियार छीनने और फ़रार होने की कोशिश का इल्ज़ाम बे बुनियाद है क्युंकि उन नौजवानों के हाथ हथकड़ियों से बांधे हुए थे और वो हथियार छीनने या फिर फरारी के मौक़िफ़ में नहीं थे। एक नौजवान ने 6 अप्रैल को वरंगल जेल से उसे चिर्ला पल्ली या चंचल गुड़ा जेल मुंतक़िल करने की दरख़ास्त की थी।

मजलिसे अमल के क़ाइदीन ने कहा कि नलगोन्डा में पुलिस की इस कार्रवाई की गैर जानिबदाराना तहकीकात ज़रूरी है ताकि हक़ायक़ और ख़ातियों को मंज़रे आम पर लाया जा सके। मजलिसे अमल के क़ाइदीन ने कहा कि इंसाफ़ के हुसूल के लिए तमाम जम्हूरी रास्ते अख़्तियार किए जाएंगे और चीफ मिनिस्टर और गवर्नर से मुलाक़ात के बाद आइन्दा हिक्मते अमली तय की जाएगी।

TOPPOPULARRECENT