Saturday , August 19 2017
Home / test / मुस्लिम लड़कियां अपने अधिकारों और जिम्मेदारियों को समझें, जामेउल उलूम पी यू कॉलेज में आयोजित समारोह में वक्ताओं का विचार

मुस्लिम लड़कियां अपने अधिकारों और जिम्मेदारियों को समझें, जामेउल उलूम पी यू कॉलेज में आयोजित समारोह में वक्ताओं का विचार

बेंगलुरु: एक बेहतर समाज के लिए महिलाओं के समृद्ध और स्वस्थ होने के साथ साथ उन्हें शिक्षित होना भी जरूरी है। क्योंकि अगली पीढ़ी उनकी गोद में ही प्रशिक्षण पाती है। इन विचारों का व्यक्त एक कार्यक्रम में छात्राओं को संबोधित करते हुए किया।

वक्ताओं ने महिलाओं की उच्च शिक्षा पर जोर देते हुए कहा कि अगर वह शिक्षित होती हैं तो इससे न केवल उनके घर में शिक्षा का माहौल पैदा होता है बल्कि उनके आसपास के घरों में भी शिक्षा के प्रति लोगों में जागरूकता आती है। वक्ताओं ने उम्मीद जताई कि महिलायें उच्च शिक्षा प्राप्त करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगी ।

Mualim girls 2

बेंगलुरु सिटी में जामा मस्जिद के तहत चलने वाले जामेउल उलूम पी यू कॉलेज में नए छात्रों के स्वागत के लिए समारोह आयोजित किया गया। इस समारोह में तमिलनाडु की मशहूर व्यकित डॉक्टर अकबर कोसर ने शिरकत की।

muslim-girl-397952_960_720.jpgr

अकबर कौसर ने कहा कि मुस्लिम लड़कियों को सिर्फ प्रारंभिक शिक्षा तक ही सीमित न रखें। उन्होंने कहा कि घरेलू जिम्मेदारियों को पूरा करते हुए वे उच्च शिक्षा प्राप्त करने की कोशिश करें।

अकबर कौसर ने जामेउल उलूम को मशवरा दिया कि वह मुस्लिम लड़कियों केलिए विश्वविद्यालय स्थापित करने की कोशिश करें। सिटी जामा मस्जिद के सेक्रेट्री अतीक अहमद ने छात्राओं से कहा कि वे अपने अधिकारों को समझें और जिम्मेदारियों को पहचानें और यह उच्च शिक्षा से ही संभव है।

TOPPOPULARRECENT