Wednesday , September 20 2017
Home / Featured News / मुस्लिम लड़कों के हमलावरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर मणिपुरी छात्रों ने किया विरोध प्रदर्शन

मुस्लिम लड़कों के हमलावरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर मणिपुरी छात्रों ने किया विरोध प्रदर्शन

मुस्लिम लड़कों के हमलावरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर मणिपुरी मुस्लिम छात्रोंने मणिपुर भवन पर किया विरोध प्रदर्शन
नई दिल्ली: मणिपुरी छात्रों द्वारा अपने गृह राज्य मणिपुर में मुसलमानों पर जानलेवा हमले की बढ़ती घटनाओं के खिलाफ यहाँ एक विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया गया | शनिवार को मणिपुर भवन के सामने मणिपुर मुस्लिम छात्रों की दिल्ली एसोसिएशन (DAMMS) द्वारा आयोजित विरोध प्रदर्शन में छह मणिपुरी मुस्लिम छात्रों पर क्रूर हमला करने में शामिल लोगों के ख़िलाफ़ कड़ी कार्यवाई करने की मांग की गयी | इस हमले में घायल स्कूल छात्रों को गुवाहाटी के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया जिनमें से तीन की हालात गंभीर है |

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

इस घटना की जानकारी मुस्लिम मिरर द्वारा दी गयी| कांग्रेस के नेतृत्व वाली मणिपुर सरकार ने अभी भी हमलावरों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है | गौरतलब है कि लिए छह मुस्लिम लड़कों को 25 मार्च को यशोंग त्यौहार के मौक़े पर थबल चोंगबा देखने के लिए जाते वक़्त बेरहमी से पीटा गया था |

मणिपुर भवन के सामने दिल्ली विश्वविद्यालय, जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) और जामिया मिलिया इस्लामिया के छात्रों ने एक बड़ी संख्या में इकठ्ठा होकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और रेजिडेंट कमिश्नर के माध्यम से मणिपुर के मुख्यमंत्री को एक ज्ञापन सौंपा |

DAMMS के अध्यक्ष आरिफ सज्जाद बी एस ने कहा कि मणिपुर, अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों पर हमले के रूप में सांप्रदायिक ताकतों का बड़ा केंद्र बन गया है उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का रवैया सबसे निंदनीय है जिसने हमें यहां विरोध करने के लिए मजबूर किया है | NEFIS भी मणिपुर के छात्रों के साथ एकजुटता में विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए।
विरोध कर रहे छात्रों द्वारा दिए गये ज्ञापन में कुछ मांगें रखी गयीं –

आरोपी पर मामला दर्ज कर अपराधी को तुरंत गिरफ़्तार किया जाए |
भविष्य में इस तरह की घटना होने पर जांच और आवश्यक कार्रवाई की जाय ।

अल्पसंख्यकों के हितों की रक्षा और जीवन के अधिकार की गारंटी |
(चोट की गंभीरता के कारण जिन 3 छात्रों को गुवाहाटी अस्पताल में दाख़िल किया गया है ) उनके चिकित्सा उपचार के लिए पीड़ितों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाय |
सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील क्षेत्रों में सुरक्षा गश्त बढ़ाया जाय अगर सरकार एक हफ़्ते के अंदर कोई कार्यवाई करने में नाकामयाब रहती है तो न्याय पाने के लिए विभिन्न छात्र संगठनों और नागरिक समाज द्वारा मणिपुर और दिल्ली दोनों जगह पर विरोध प्रदर्शन जारी रखा जायेगा |

TOPPOPULARRECENT