Sunday , October 22 2017
Home / Sports / मुहम्मद आमिर को पी सी बी की तहक़ीक़ात का सामना ?

मुहम्मद आमिर को पी सी बी की तहक़ीक़ात का सामना ?

इंगलैंड में क्रिकेट करप्शन मुक़द्दमे में क़ैद की सज़ा मुकम्मल करने के बाद मुहम्मद आमिर वतन वापस तो पहुंच गए लेकिन अब उन्होंने लाहौर मैं ख़ुद को अपने घर पर क़ैद कर लिया है। मुहम्मद आमिर गुज़शता रोज़ लंदन से लाहौर पहुंचे थे। वो एयरपोर्

इंगलैंड में क्रिकेट करप्शन मुक़द्दमे में क़ैद की सज़ा मुकम्मल करने के बाद मुहम्मद आमिर वतन वापस तो पहुंच गए लेकिन अब उन्होंने लाहौर मैं ख़ुद को अपने घर पर क़ैद कर लिया है। मुहम्मद आमिर गुज़शता रोज़ लंदन से लाहौर पहुंचे थे। वो एयरपोर्ट पर मीडीया से बचने के लिए खु़फ़ीया रास्ते से निकल गए।

मीडीया के नुमाइंदे घर पर भी मौजूद थे लेकिन आमिर ने वहां भी बात नहीं की और गाड़ी से उतरते ही घर में दाख़िल हो गए। मीडीया नुमाइंदे सारा दिन आमिर से गुफ़्तगु का इंतिज़ार करता रहे लेकिन लंदन की जेल से रिहाई पाने वाले आमिर ने ख़ुद को घर में ही क़ैद कर लिया।

दरीं असना मुहम्मद आमिर के भाईयों का कहना है कि वकील ने आमिर को मीडीया से बात करने से मना कर रखा है। इलावा अज़ीं मुहम्मद आमिर को अब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की तहक़ीक़ात को सामना होगा। मुहम्मद आमिर के साथ पाकिस्तानी नज़ाद बर्तानवी ख़ातून वकील भी उनके साथ आई हैं जिनके मश्वरे पर मुहम्मद आमिर ने मीडीया से बात करने से गुरेज़ किया।

लंदन से रवानगी से क़ब्ल उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं मालूम कि इनका मुस्तक़बिल क्या होगा, फ़िलहाल उनकी ख़ाहिश वतन लौटना है। उन्हें बर्तानिया में स्पाट फिक्सिंग और धोका दही केस में गुज़श्ता साल 3 नवंबर को छः माह की सज़ा हुई थी जबकि आई सी सी ने मुहम्मद आमिर पर पाँच साल क्रिकेट खेलने की पाबंदी आइद की हुई है जिसके ख़िलाफ़ वो खेलों की सालसी अदालत में अपील करेंगे।

ये पाबंदी सितंबर 2015 में ख़तम होगी। इनके साथ सज़ा पाने वाले मुहम्मद आसिफ़ और सलमान बट अभी तक जेल में हैं। वाज़िह रहे कि मुहम्मद आमिर ने 14 टेस्ट में1 और 15 वनडे में 25 खिलाड़ियों को आउट किया। मुल्की और ग़ैर मुल्की कई साबिक़ क्रिकेटर्स ने कम उम्र मुहम्मद आमिर से नरमी बरतने की अपील की है।

दरीं असना पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के क़ानूनी मुशीर तफ़ज़्ज़ुल रिज़वी ने कहा है कि आमिर से तहक़ीक़ करके मुआमला की तहा तक पहुंचना पी सी बी का हक़ है, अलबत्ता उनकी पाँच साल की पाबंदी के ख़िलाफ़ अपील आलमी सालसी अदालत में ज़ेर इलतिवा है इसके फ़ैसले का इतलाक़ आई सी सी और पी सी बी पर होगा।

उन्होंने कहा कि एतराफ़-ए-जुर्म के सबब आमिर का मौक़िफ़ काफ़ी कमज़ोर नज़र आरहा है।

TOPPOPULARRECENT