Friday , October 20 2017
Home / India / मुख़ालिफ़ नक्सलाइटस कार्यवाहीयां रियासतों में चौकसी

मुख़ालिफ़ नक्सलाइटस कार्यवाहीयां रियासतों में चौकसी

नई दिल्ली नक्सलाइटस की तबदील शूदा हिक्मत-ए-अमली के पेशे नज़र फ़ौज नियम फ़ौजी फ़ोर्स और पुलिस के मंसूबों में तब्दीली

नई दिल्ली
नक्सलाइटस की तबदील शूदा हिक्मत-ए-अमली के पेशे नज़र फ़ौज नियम फ़ौजी फ़ोर्स और पुलिस के मंसूबों में तब्दीली

नक्सलाइटस ज़ेर-ए-असर रियासतों में सरगर्म फ़ौज से ख़ाहिश की गई है कि पुर तशदुद मुख़ालिफ़ जाही कार्व‌इयों के पेशे नज़र जो दाएं बाज़ू के इंतेहापसंदों ने शुरू कर रखी है जिस के नतीजे में छत्तीसगढ़ के 7मुलाज़मीन पुलिस हलाक करदिए गए चौकसी इख़तियार करने की हिदायत जारी करदी गई है।

सरकारी ज़राए के बमूजब नक्सलाइटस ने इंसिदाद जारिहाना कार्रवाई हिक्मत-ए-अमली का इन इलाक़ों में मार्च के आख़िर में आग़ाज़ किया है। जारिहाना कार्रवाई अब पहले बड़े हमले की सूरत में मंज़रे आम पर आई है। फ़ौज पर हमला कर के उन्होंने 7 एसटी एफ़ मुलाज़िमीन पुलिस को हलाक और तक़रीबन 12ज़िला सुकमा ( छत्तीसगढ़) में हलाक कर दिया है।

टी सी बी सी तक़रीबन तीन ता चार माह की मुद्दत से मार्च । अप्रैल के दौरान शुरू की गई है । जब कि मुसल्लह नक्सलाइटस कारकुनों ने ख़ुसूसी पुर तशदुद कार्यवाहीयां फ़ौज और दीगर के ख़िलाफ़ शुरू की थीं जो अब अपनी जड़ पकड़ चुकी हैं । अज़सर-ए-नौ ग्रुप बंदी होचुकी है और नक्सलाइटस ने अपने लायेहा-ए-अमल की हिक्मते अमलीयाँ मौसम-ए-गर्मा के आग़ाज़ से पहले तए करली हैं।

फ़ौज को मार्च में ही चौकस कर दिया गया था जब कि सालाना टी सी बी सी का आग़ाज़ होता है लेकिन बड़े पैमाने पर छत्तीसगढ़ में कल फ़ौज पर हमले के पेशे नज़र चौकसी के अहकाम दुबारा जारी किए गए जो तमाम फोर्सेस पर लागू होंगे। सयान्ती इंतेज़ामीया के ज़राए के बमूजब सी आर पी एफ़ के स्पेशल डायरेक्टर जनरल ( कार्यवाहीयां) के दुर्गा प्रसाद आज छत्तीसगढ़ के दार-उल-हकूमत राय पुर पहुंच गए ताकि सयान्ती इंतेज़ामात का जायज़ा ले सके ।

उन्होंने कहा कि नई हिदायात के तहत मर्कज़ी रिज़र्व पुलिस फ़ोर्स और दीगर नियम फ़ौजी तंज़ीमों के अलावा रियासती पुलिस के यूनिट को बेहतर और चालाक हिक्मत अमलीयाँ नाफ़िज़ करने केलिए हिदायत दी गई है ताकि इस बात को यक़ीनी बनाया जा सके कि नक्सलाइटस हैरतज़दा ना करसके।

इन कार्यवाईयों में सयान्ती अफ़्वाज के अहाते को क़िला बंद करना ख़ुसूसी महिकमा सुराग़ रसानी की इत्तेलाआत पर मबनी कार्यवाहीयां करना और खु़फ़ीया हिक्मत-ए-अमली को यक़ीनी बनाना शामिल हैं। जब कि कार्यवाहीयां 10 नक्सलाइटस ज़ेर-ए-असर रियासतों में की जा रही हैं।

TOPPOPULARRECENT