Monday , October 23 2017
Home / Khaas Khabar / में जो ठान लेता हूँ वो कर दिखाता हूँ: के सी आर

में जो ठान लेता हूँ वो कर दिखाता हूँ: के सी आर

तेलंगाना के चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ (के सी आर) ने कहा कि उनकी हुकूमत हैदराबाद को एक साफ़ सुथरा और आलमी शहर बनाने का अह्द करचुकी है। के सी आर ने अपनी स्वच्छ हैदराबाद मुहिम के एक हिस्सा के तौर पर सिकंदराबाद के मुख़्तलिफ़ मुहल्ल

तेलंगाना के चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ (के सी आर) ने कहा कि उनकी हुकूमत हैदराबाद को एक साफ़ सुथरा और आलमी शहर बनाने का अह्द करचुकी है। के सी आर ने अपनी स्वच्छ हैदराबाद मुहिम के एक हिस्सा के तौर पर सिकंदराबाद के मुख़्तलिफ़ मुहल्लाजात का दौरा किया और कहा कि शहर में अब हर जगह कंक्रीट की इमारतें ही नज़र आरही हैं और कहीं पेड़ पौदे बाक़ी नहीं रहे। इस सूरत-ए-हाल में तबदीली की ज़रूरत है।

चन्द्रशेखर राव‌ ने कहा कि वो बहुत ज़िद्दी शख़्स हैं, जो ठान लेते हैं उस को पूरा करने तक चैन से नहीं बैठते। वाज़िह रहे के चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना ने उस्मानिया यूनीवर्सिटी की 11 एकड़ अराज़ी पर ग़रीबों के लिए मकानात तामीर करने का एलान किया है, जिस पर हैदराबाद का सियासी माहौल अचानक गर्म हो गया।

उस्मानिया यूनीवर्सिटी के तलबा के कैंपस में इस फ़ैसले के ख़िलाफ़ एहतेजाज करते हुए चीफ़ मिनिस्टर आग के पुतले नज़र-ए-आतिश किए गए, जबकि अप्पोज़ीशन कांग्रेस, तेल्गु देशम और कमीयूनिसट जमातों ने इस तजवीज़ की सख़्त मुख़ालिफ़त की है। ताहम तलबा और अप्पोज़ीशन जमातों की तन्क़ीदों की परवाह ना करते हुए चीफ़ मिनिस्टर ना सिर्फ़ अपने फ़ैसले पर अटल हैं, बल्कि इस तजवीज़ की मुख़ालिफ़त करने वालों के ख़िलाफ़ जारिहाना तीव्र अपनाए हुए हैं।

उन्होंने सिकंदराबाद के इश्वरी बाईनगर और गोतानगर वग़ैरा में चौथे दिन भी स्वच्छ हैदराबाद प्रोग्राम में हिस्सा लिया और कहा कि वो किसी से डरने या घबराने वाले नहीं हैं। पुतले नज़र-ए-आतिश करने या एहतेजाज का उन पर कोई असर नहीं होगा, ग़रीब अवाम के लिए मकानात की तामीर की मुख़ालिफ़त करने वाले ही दरअसल इस तजवीज़ की मुख़ालिफ़त कर रहे हैं, मगर वो हर हाल में उस्मानिया यूनीवर्सिटी की अराज़ी पर ग़रीबों के लिए मकानात तामीर करेंगे, एसा करने से उन्हें कोई रोक नहीं सकता और ना ही वो किसी के रोकने से अपना फ़ैसला तबदील करने वाले हैं।

उन्होंने कहा कि ग़रीब अवाम के मुफ़ादात के तहफ़्फ़ुज़ की बजाये चंद जमातें इस तजवीज़ की मुख़ालिफ़त करते हुए सस्ती शौहरत हासिल करना चाहती हैं, लेकिन जब वो कोई काम शुरू करते हैं तो उस को दरमयान में रोकने के आदी नहीं हैं। उन्होंने शहर की तरक़्क़ी और हैदराबाद को सरसब्ज़-ओ-शादाब बनाने की मुहिम में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेने की शहरीयों से अपील की।

TOPPOPULARRECENT