Friday , September 22 2017
Home / India / मेरे बेटे को डेंगू है अस्पताल नहीं ले रहे कैश: जज कोलकाता हाई कोर्ट

मेरे बेटे को डेंगू है अस्पताल नहीं ले रहे कैश: जज कोलकाता हाई कोर्ट

कोलकाता :  नोटबंदी के फैसले के बाद देश में पैदा हुए ख़राब हालात को देखकर अब केंद्र सरकार को कोलकाता हाई कोर्ट ने फटकार लगायी| हाईकोर्ट ने जनता को हो रही भारी परेशानी को देखते हुए 25 नवंबर तक मोदी सरकार से जवाब मांगा है |

कोर्ट ने शुक्रवार को नोटबंदी के खिलाफ दायर एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि सरकार हर रोज़ अपने फैसले बदल रही है |इस तरह हर रोज़ फैसले में नये नियम लागू करने सही नहीं है| कोर्ट ने कहा कि सरकार ने फ़ैसला लेने से पहले होमवर्क नहीं किया |जिसकी वजह से जनता को बेहद परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है | अपने बेटे की बीमारी का जिक्र करते हुए जज ने कहा कि मेरे बेटे को डेंगू है, लेकिन अस्पताल वाले कैश लेने को तैयार नहीं है|

कोलकाता हाई कोर्ट ने कहा कि हम सरकार का फैसला नहीं बदल रहे, लेकिन इस मामलें में बैंक कर्मचारियों की लापरवाही भी सामने आ रही है| कोर्ट ने कहा कि सरकार ने नोटबंदी के फैसले को लागू करते वक्त सरकार ने अपने दिमाग का सही इस्तेमाल नहीं किया | हाईकोर्ट ने जनता को हो रही भारी परेशानी को देखते हुए 25 नवंबर तक मोदी सरकार से जवाब मांगा है|

गौरतलब कि केंद्र सरकार ने आतंकवाद, कालेधन और भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के लिए 8 नवंबर को 500 और 1,000 रुपए के नोट को बैन करने का फैसला किया था | जिसके बाद से इस फैसले के बाद से जनता को बेहद परेशानी का सामना करना पड़ रहा है |पुराने नोट बदलवाने और एटीएम से पैसा निकालने के लिए देशभर के बैंकों और एटीएम के बाहर लंबी-लंबी कतारें लग रही हैं|

TOPPOPULARRECENT