Saturday , August 19 2017
Home / India / मेवात में हुए दोहरे हत्याकांड, व गैंगरेप के दोषियों को सज़ा दिलवाने की मांग को लेकर दिया गया धरना

मेवात में हुए दोहरे हत्याकांड, व गैंगरेप के दोषियों को सज़ा दिलवाने की मांग को लेकर दिया गया धरना

मेवात(हरियाणा) , 4 सितंबर | मेवात के डिंगरहेडी कांड के विरोध में आज इतवार को समाज में सामाजिक चेतना जगाने के लिये व इस दोहरे हत्याकांड, दौरे गैग रेप कंाड के गुनहगारों को फांसी की सजा दिलाने के लिये सामुहिक तौर उपवास धरना आयोजित गय। इसका आयोजन एक दर्जन से अधिक सामाजिक संगठानों ने नूंह के गांधी पार्क में धरणा व उपवास का आयोजन किया गया।
इस मौके पर मेवात विकास परिषद, मेवात विकास मंंच, राष्ट्रीय मुस्लिम मंच, मानवता फांडेशन, शसक्त नारी परिषद, आदम संगठन, ऑल इंडिया मेव मुस्लिम परिषद और हमारा अधिकार मोर्चा सहित करीब संगठनों ने भाग लिया। इस मौके पर हत्या और रेप के आरोपियों को फंसा दी जाये। इस घटना कि जमकर निदा की गई।
इस मौके पर सशक्त नारी परिषद की राट्रीय अध्यक्षा दीपा अंतिल का कहना है कि अब मेवात के लोगों को जागना होगा जब तक इन पीडितो के हक की आवाज मेवात से नहीं उठेगी तक तब तक देश के लोग साथ खडे नहीं होगें। उन्होने कहा कि आंदोलन के जरिये ही हक लिया जा सकता है। उन्होने कहा कि आज एक बेटी के साथ ये हादसा हुआ है कल हमारी बेटी का भी नंबर आ सकता है।
मानवता फांउडेशन की संगीता गुप्ता का कहना है कि सीएम साहब मेवात की बेटियों से जो गैग रेप हुआ उन्होने जींंस नहीं पहन रखी थी बल्कि वो अपने घर पर रात को सो रही थी उन्होने कहा कि इन कांड को सीएम के कानों तक पहुचाने के लिये संगठनो को अपी आवाज बुलंद करनी पडेगी।
राष्ट्रीय मुस्लिम मंच के प्रदेश प्रभारी खुरशीद राजाका ने कहा कि आरोपियो को सजा दिलाने और पीडितों को न्याय दिलाने के लिये ये एक दिन का उपवास धरना दिया गया है। इस धरना में करीब 15 संगठनो ने भाग लिया है। उन्होने कहा कि इस धरना की मार्फत सभी संगठनों ने हरियाणा के मुख्यमंत्री से मांग की है कि इमानदारी और निष्पक्ष जांच कर आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार किया जाये।पीडित परिवारों को अर्थिक मदद और सरकारी नोकरी दी जाये। दौषियों के खिलाफ फास्ट्रेक कोर्ट में मामला चलाया जाये।
वरिष्ट समाजसेवी फजरूदीन बेसर ने कहा कि अब संगठनों का नेताओं की जेब से हटकर कौम के हको को उठाना होगा क्योकि सामाजिक संगठनो में वो दम होता है जिससे सरकार और प्रसाशन हिल जाते हैं। विकास मंच के जाहिद हुसैन और आसिफ अली का कहना है कि आरोपी आरोपी होता है उसकी कोई जाती व धर्म नहीं होता इस वजह से इस मामले को जाति धर्म के नाम पर तूल न दिया जाये। उन्होने पीडित परिवार को 21-21 लाख रूपये और सरकारी नोकरी की मांग की है।
वहीं दिल्ली यूनिवर्सिटी से आये वसीम मेव का कहना है कि सरकार आरोपियो को तुरंत गिरफ्तार करे नहीं तो दिल्ली की सभी यूनिवर्सिटी के छात्र संगठन मिलकर दिल्ली के जंतर मंतर पर विरोध प्रदर्शन करने को मजबूर होगें।
इस मौके पर खुर्शीद राजाका, एडवोकेट खलील अहमद, आसिफ चंदेनी, फजरूदीन बेसर, जाहिद बाई, मोलाना डाक्टर रफीक, मोहम्मद तलहा, राष्ट्रपति अवार्डी डॉ इमरान चौधरी, हाजी नुसरत, मास्टर गंगा दान, हरपाल सैनी भादस, अबदुल्लाह सरपंच, दीपा अंतिल, राजूदीन, संगीता गुप्ता, वसीम मेव डीयू, साजिद जामिया सहित समस्त सामाजिक कार्यकर्ता।

TOPPOPULARRECENT