Thursday , October 19 2017
Home / Bihar News / मोदी को इंसानी बम से उड़ाने की थी साजिश, 10 मुलजिमों के खिलाफ इल्ज़ाम तय

मोदी को इंसानी बम से उड़ाने की थी साजिश, 10 मुलजिमों के खिलाफ इल्ज़ाम तय

पटना सीरियल ब्लास्ट के मामले में पटना एनआइए के खुसुशी जज अनिल कुमार सिंह की अदालत में मंगल को जेल में बंद 10 मुलजिमों के खिलाफ इल्ज़ाम तय किया गया। इस मामले में 11 मुल्ज़िम हैं।

पटना सीरियल ब्लास्ट के मामले में पटना एनआइए के खुसुशी जज अनिल कुमार सिंह की अदालत में मंगल को जेल में बंद 10 मुलजिमों के खिलाफ इल्ज़ाम तय किया गया। इस मामले में 11 मुल्ज़िम हैं।

इनमें एक इम्तयाज अंसारी के खिलाफ साबिक़ में ही इल्ज़ाम तय कर दिया गया था। खुसुसि अदालत में मौजूद तमाम मुलजिमों ने लगाये गये इल्ज़ाम से इनकार किया और अपने को बेगुनाह बताया। अदालत ने मामले की अगली सुनवाई व सुबूत के लिए 19 जनवरी की तारीख तय की है।

27 अक्तूबर,2013 को मुल्जिमान ने पटना जंकशन के प्लेटफॉर्म नंबर 10 के बाइतुल खुला के नज़दिक धमाका किया था। इसके बाद गांधी मैदान में सीरियल बम ब्लास्ट किया गया। तहक़ीक़ात के लिए मामला एनआइए की टीम को सौंप दिया गया था। एनआइए ने तहक़ीक़ात के बाद 21 अगस्त,2014 को बोध गया व पटना बम ब्लास्ट में मुश्तरका तौर से 10 मुल्जिमान के खिलाफ इल्ज़ाम दाखिल किया था। एनआइए ने तहक़ीक़ात में पाया कि रांची वाकेय इरम लॉज कमरा नंबर आठ में ही दहशतगर्दों ने पटना में ब्लास्ट की साजिश रची थी।

खुलासा वाकिय के दिन इम्तियाज अंसारी की गिरफ्तार के बाद हुई थी। रांची के धुर्वा वाकेय रिहाइशगाह की तलाशी के दौरान वहां से प्रेशर कुकर बम, ग्लास बम, धमाके खेज आलात,मुल्क का नक्शा व गांधी मैदान के स्केच बरामद हुए थे।

एनआइए ने तहक़ीक़ात में पाया कि इम्तियाज अंसारी, हैदर अली ,नोमान अंसारी,तौफिक अंसारी व मुजिवुल्लाह अंसारी ने साजिश करके इंतिख़ाब के दौरान ही नरेंद्र मोदी को मारने की साजिश रची थी और रांची, मिर्जापुर, इलाहाबाद व रायपुर में एक साथ धमाके करने की मंसूबा बनायी थी।

वाकिया के एक हफ्ता पहले हैदर अली, तारिक अंजाम, नोमान अंसारी व तौफिक अंसारी पटना जंकशन वाकेय जामा मसजिद में आपस में मिल कर गांधी मैदान की जायजा लिया और उसके बाहर व इंट्री करनेवाले मुकामात पर भी गौर किया था। यहां तक कि हैदर अली उमर सिद्दीकी ने नरेंद्र मोदी को मारने के लिए इंसानी बम का इस्तेमाल करने पर भी गौर किया था, लेकिन पुख्ता सेक्युर्टी के घेरे को देखते हुए दहशतगर्दों ने मंसूबा बदलते हुए इंतिख़ाब रैली में ही निशाना बनाने की कोशिश किया था।

इन पर इल्ज़ाम तय

हैदर अली (धुर्वा,रांची),नोमान अंसारी, तौफिक अंसारी,मोहम्मद मुजिबुल्लाह अंसारी (रांची), उमर सिद्दीकी (रायपुर), अजहरउद्दीन कुरैशी (रायपुर),अहमद हुसैन (मिर्जापुर), फखरुद्दीन (मिर्जापुर), मोहम्मद फिरोज असलम (रांची) व मोहम्मद इफ्तिकार आलम (रांची) शामिल हैं।

इन दफ़ात में इल्ज़ाम तय

307,326,121,121ए ,121बी/34 भादवी, 3, 4 व 5 विस्फोटक पदार्थ अधिनियम, 16,18,20 व 23 यूएपी एक्ट व 151,153 तथा 17 क्रिमिनल लॉ एमेंडमेंट एक्ट में हुआ।

TOPPOPULARRECENT