Sunday , August 20 2017
Home / Bihar News / मोदी को हिम्मत है तो आरएसएस से नाता तोड़ें या मज़मत करें : नीतीश

मोदी को हिम्मत है तो आरएसएस से नाता तोड़ें या मज़मत करें : नीतीश

बिहारशरीफ : वजीरे आजम को हिम्मत है, तो आरएसएस से नाता तोड़ कर या उनकी मज़मत कर दिखाएं। उन्हें बिहार में ताकत चाहिए, जिससे राज्यसभा में उनका अकसरियत हो जाये और वे मनमाने तरीके से कानून में तर्मिम कर सकें। आज वे मुझे मिस्टर कहते फिर रहे हैं। बिहारशरीफ की इंतिख़ाब इजलास में पीर को वजीरे आला नीतीश कुमार पूरी तरह वजीरे आजम पर हमलावर मूड में दिखे। उन्होंने कहा कि तीसरे मरहले के इंतिख़ाब तशहीर के आखिरी दिन हम आपके पास हाजिरी लगाने आये हैं। आपने जो मुहब्बत दिया। उसी की वजह से आज मुल्क -दुनिया के लोग नीतीश को जानते हैं। हमारा यह जोड़ अटूट है। एकाध दिन के लिए कुछ लोग आयेंगे, चले जायेंगे। लेकिन हम आपके खिदमत करते रहेंगे। आज अजीम इत्तिहाद की ताकत से मुखालिफत करने वाले परेशान हैं। बीजेपी के मुल्क भर के लीडर, वज़ीर, वजीरे आला यहां आकर चक्कर काट रहे हैं। आज तक कोई वजीरे आजम किसी रियासत के इंतिख़ाब में इतनी सफर की। इसका मिसाल कभी नहीं देखने को मिला है। आज यह वहम हो रहा है कि मुल्क की दारुल हुकूमत दिल्ली से कहीं पटना शिफ्ट तो नहीं हो गयी है। आप इनका सूफड़ा साफ कर दें।

आज जो वे कह रहे हैं। कल फिर कह देंगे कि वो तो जुमला था। मैं कहता हूं कि आप अपनी पार्टी का नाम बदल कर भारतीय जुमला पार्टी रख लीजिए। ये लोग रिज़र्वेशन खत्म कर देंगे। उनके उस्ताद आरएसएस चीफ़ ने इसकी एलान कर दी है।

इजलास को पानी वसायल वज़ीर विजय कुमार चौधरी, एसेम्बली सदर उदय नारायण चौधरी, एमपी कौशलेन्द्र कुमार, नालंदा उम्मीदवार श्रवण कुमार, बिहारशरीफ के जदयू उम्मीदवार असगर शमीम, राजगीर के उम्मीदवार रवि ज्योति समेत कई लीडरों ने खिताब किया।

TOPPOPULARRECENT