Monday , June 26 2017
Home / India / मोदी जी क्या अपने नेताओं के बच्चों को सेट करने के चक्कर में यूपी को अपसेट करेंगे? -तेजस्वी यादव

मोदी जी क्या अपने नेताओं के बच्चों को सेट करने के चक्कर में यूपी को अपसेट करेंगे? -तेजस्वी यादव

भारतीय जनता पार्टी ने रविवार को 155 उम्मीदवारों की सूची जारी की है। इसमें गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह को भी नोएडा सीट से टिकट दिया गया है।

पंकज सिंह को टिकट दिए जाने के बाद लोग इसे भाजपा में परिवारवाद से जोड़ कर देख रहे हैं। बीजेपी के प्रवक्ता अक्सर कांग्रेस और सपा के परिवारवाद के खिलाफ तंज कसते रहे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कई मौक़ों पर कांग्रेस में वंशवाद का मुद्दा उठाते रहे हैं।  लेकिन इस बार यूपी इलेक्शन में बीजेपी में परिवारवाद पूरी तरह से हावी दिखा है।

बीजेपी में परिवारवाद

इस लिस्ट में कई नेताओं के बेटे, बेटियों या सगे संबंधियों को टिकट दिया गया है। गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह को नोएडा से टिकट दिया गया है। नोएडा से बीजेपी की सीटिंग विधायक विमला बाथम का टिकट काटकर पंकज सिंह को टिकट दिया गया है। वहीं कैराना से बीजेपी सांसद हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह को कैराना से टिकट दिया गया है। बसपा से बीजेपी में आए स्वामी प्रसाद मौर्य के बेटे उत्कर्ष मौर्य को ऊंचाहार सीट से उम्मीदवार बनाया गया है। बीजेपी सांसद ब्रजभूषण शरण सिंह के बेटे प्रतीक भूषण को गोंडा से टिकट मिला है।

लालजी टंडन के बेटे आशुतोष टंडन को लखनऊ उत्तर से उम्मीदवार बनाया गया है। पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के नाती सिद्धार्थ नाथ सिंह को इलाहाबाद पश्चिम, प्रेमलता कटियार की बेटी नीलिमा को कल्याणपुर से, संजय सिंह की पत्नी गरिमा सिंह को अमेठी से, रामलाल राही के बेटे सुरेश राही को हरगांव सीट से, सर्वेश सिंह के बेटे सुशांत सिंह को बढ़ापुर से और रंजना बाजपेयी के बेटे हर्ष बाजपेयी को इलाहाबाद उत्तर से टिकट दिया गया है।

बीजेपी के टिकट बंटवारे पर परिवारवाद पर सोशल मीडिया में तंज कसा जा रहा है। इसमें वो नेता भी शामिल हैं जो बीजेपी के पारिवारवाद के तानों का शिकार हो चुके हैं। ऐसे  में वो मौके का जाने नहीं दे रहे हैं।

सोशल मीडिया में बीजेपी के परिवारवाद का उड़ाया गया मज़ाक

लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी यादव ने ट्वीट करते हुए प्रधानमंत्री मोदी से सवाल किया, “आदरणीय नरेंद्र मोदी जी, क्या अब आप अपने नेताओं के बच्चों को सेट करने के चक्कर में यूपी को अपसेट करेंगे? बिहार के संदर्भ में कुछ याद आया सर?

जोगिंदर चौधरी ने फ़ेसबुक पर लिखा, “पंकज सिंह अगर अपने बलबूते चुनाव लड़ते तो अपने ज़िले से लड़ते। मोदी जी अब परिवारवाद को बढ़ावा दे रहे है।”

भास्कर कुमार ने सवाल किया, “गृह मंत्री राजनाथ के बेटे पंकज सिंह को नोएडा से भाजपा उम्मीदवार बनाया गया है! क्या ये भी परिवार-वाद कहलाएगा ?

राकेश गोयल ने लिखा, “गांधीजी से तुलना कीजिए. उन्होंने अपने बेटे के दाख़िले तक के लिए सिफ़ारिश नहीं की थी। मोदी भी अपने परिवार के लिए कुछ नहीं करते हैं. राजनाथ ने मोदी को झुका दिया है।”

मनु पंवार ने लिखा, “राजनाथ सिंह खुद केंद्र में मंत्री, बेटे पंकज को नोएडा से टिकट और समधी नारायण सिंह राणा को उत्तराखंड से टिकट. मोदी जी ने कहा है- कांग्रेस में एक ही परिवार फलफूल रहा है।”

 

Top Stories

TOPPOPULARRECENT