Tuesday , October 17 2017
Home / India / मोदी नहीं चाहते कि उनकी बायोग्राफी बच्चों के सिलेबस का हिस्सा बने

मोदी नहीं चाहते कि उनकी बायोग्राफी बच्चों के सिलेबस का हिस्सा बने

स्कूलों में अपनी बायोग्राफी पढाए जाने के फैसले को वज़ीर ए आज़म नरेंद्र मोदी ने गलत ठहराया है। वह किताबों के सिलेबस में अपनी बायोग्राफी को हिस्सा नहीं बनाना चाहते। मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि उनकी बायोग्राफी को किताब का हिस्सा न बनाय

स्कूलों में अपनी बायोग्राफी पढाए जाने के फैसले को वज़ीर ए आज़म नरेंद्र मोदी ने गलत ठहराया है। वह किताबों के सिलेबस में अपनी बायोग्राफी को हिस्सा नहीं बनाना चाहते। मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि उनकी बायोग्राफी को किताब का हिस्सा न बनाया जाए। मोदी के मुताबिक वह जिंदा लोगों की बायोग्राफी को किसी किताब का हिस्सा बनाए जाने के खिलाफ हैं।

बता दें कि महाराष्ट्र और राजस्थान की हुकूमत ने अगले साल से प्राइमरी स्कूलों में मोदी की बायोग्राफी पढाने का फैसला लिया था, जिसके मुताबिक बच्चे मोदी पैदाईश , खानदान का पेस ए मंज़र, ज़िंदगी और सियासत में जद्दो जहद के बारे में पढेंगे। किताब के जरिये बच्चे मोदी के संघ प्रचारक बनने से लेकर वज़ीर ए आला और वज़ीर ए आज़म तक के सफर से तरगीब हासिल कर सकेंगे।

मोदी ने आज जुमे के रोज़ ट्वीट कर कहा कि मैंने खबरों में पढा कि कुछ रियासत मेरी ज़िंदगी के ज़द्दो जहद को स्कूल के सिलेबस में शामिल करना चाहते हैं। मेरे हिसाब से हिंदुस्तान में बहुत से अज़ीम ज़िंदगी वाले रहे हैं, जिन्होंने हिंदुस्तान को ऐसा बनाया। बच्चों को उनके बारे में पढना चाहिए। मेरा मानना है कि ज़ि‍दा शख्स की बायोग्राफी को स्कूल के सिलेबस में शामिल नहीं किया जाना चाहिए।

TOPPOPULARRECENT