Sunday , October 22 2017
Home / India / मोदी ने ख़ुद को गुजरात का वज़ीर-ए-आज़म समझ लिया

मोदी ने ख़ुद को गुजरात का वज़ीर-ए-आज़म समझ लिया

महाराष्ट्र और हरियाणा में चीफ़ मिनिस्टर गुजरात की हैसियत से इंतेख़ाबी मुहिम में मसरूफ़ चिदम़्बरम का तंज़

महाराष्ट्र और हरियाणा में चीफ़ मिनिस्टर गुजरात की हैसियत से इंतेख़ाबी मुहिम में मसरूफ़ चिदम़्बरम का तंज़

कांग्रेस ने आज नरेंद्र मोदी को शदीद तन्क़ीदों का निशाना बनाया और कहा कि वो बहैसियत वज़ीर-ए-आज़म गुजरात तरक़्क़ीयाती मॉडल को फ़रोग़ देने की मुम्किना कोशिशें कररहे हैं। साबिक़ वज़ीर फाइनेंस‌ पी चिदम़्बरम ने तंज़िया तौर पर कहा कि मोदी ख़ुद को गुजरात का वज़ीर-ए-आज़म तसव्वुर करते हैं।

उन्होंने ज़राए इबलाग़ के नुमाइंदों से बातचीत करते हुए कहा कि मोदी ज़हनी तौर पर अब तक गुजरात से बाहर नहीं निकल पाए। वो इस हक़ीक़त को भी फ़रामोश कर बैठे हैं कि वो एक वज़ीर-ए-आज़म हैं। ईसी लिए वो ख़ुद को गुजरात का वज़ीर-ए-आज़म तसव्वुर करते हुए तवाज़ुन बरक़रार रखने की कोशिश करलेते हैं।

चिदम़्बरम ने कहा कि उन के ख़्याल में मोदी अभी तक गुजरात के चीफ़ मिनिस्टर और हिन्दुस्तान के वज़ीर-ए-आज़म के माबैन कश्मकश में मुबतला हैं। इन का ख़्याल ये है कि वो ख़ुद को गुजरात का वज़ीर-ए-आज़म समझ बैठे हैं। सीनियर कांग्रेस लीडर ने कहा कि मोदी आज भी लोक सभा इंतेख़ाबात से पहले के दौर में हैं और वो महाराष्ट्र-ओ-हरियाणा असेम्बली इंतेख़ाबात में इस तरह मुहिम चला रहे हैं जैसे कि वो गुजरात के चीफ़ मिनिस्टर हो।

चिदम़्बरम ने कहा कि नरेंद्र मोदी अब गुजरात के चीफ़ मिनिस्टर नहीं रहे बल्कि वो हिन्दुस्तान के वज़ीर-ए-आज़म हैं। ईसी लिए अवाम का उन पर ये हक़ है कि वो इक़्तेदार सँभालने के बाद गुज़िश्ता 120 दिन की कारकर्दगी के बारे में उन से सवाल करें। उन्होंने नरेंद्र मोदी और दीगर बी जे पी क़ाइदीन के इस दावे का भी मज़हका उड़ाया कि तरक़्क़ी के मामले में गुजरात ने महाराष्ट्र को पीछे छोड़ दिया है।

चिदम़्बरम ने कहा कि इस दावे की कोई बुनियाद नहीं है। इस मामले में किसी तरह का शुबा नहीं है कि हिन्दुस्तान में महाराष्ट्र सनअती तरक़्क़ी के मामले में सब से आगे है। सब से ज़्यादा मुल्की और ग़ैर मुल्की सरमायाकारी यहीं की जाती है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र का वक़ार घटाने की कोशिश एक मज़मूम हरकत है।

ये कहना भी इंतेहाई ग़लत है कि गुज़िश्ता कई साल के दौरान महाराष्ट्र में कुछ नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि ये भी अफ़सोसनाक पहलू है कि बाज़ लोग यहां आकर महाराष्ट्र में गुजरात मॉडल फ़रोख़त करने की कोशिश कररहे हैं। दूसरी तरफ़ वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी ने हरियाणा में आख़िरी इंतेख़ाबी रैली से ख़िताब करते हुए राय दहनदों से ख़ाहिश की है कि वो बी जे पी को अक्सरीयत से कामयाब बनाये।

TOPPOPULARRECENT