Tuesday , October 17 2017
Home / Hadis Shareef / मोमिन की पहचान

मोमिन की पहचान

हजरत अबू अमामा रज़ी अल्लाहु तआला अन्हु से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक (स०) ने फ़रमाया, अगर नेकी करने के बाद तुझको ख़ुशी होती हो, और गुनाह के बाद तेरा दिल रंजीदा होता हो तो, समझ ले तू मोमिन है। (अहमद)

TOPPOPULARRECENT