Tuesday , March 28 2017
Home / Khaas Khabar / म्यांमार रोहिंग्या शरणार्थियों के मुद्दे पर बांग्लादेश से बातचीत के लिए तैयार

म्यांमार रोहिंग्या शरणार्थियों के मुद्दे पर बांग्लादेश से बातचीत के लिए तैयार

An internally displaced Rohingya woman holds her newborn baby surrounded by children in the foreground of makeshift tents at a camp for Rohingya people in Sittwe, northwestern Rakhine State, Myanmar. Authorities in Myanmar's western Rakhine state have imposed a two-child limit for Muslim Rohingya families, a policy that does not apply to Buddhists in the area and comes amid accusations of ethnic cleansing in the aftermath of sectarian violence. (AP Photo/Gemunu Amarasinghe)

यांगून / ढाका। म्यांमार अपने यहां से भाग कर बांग्लादेश आए रोहिंग्या मुसलमानों की समस्या के समाधान के लिए बांग्लादेश से बातचीत शुरू करेगा। म्यांमार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आज यह जानकारी दी है. एक अनुमान के अनुसार लगभग 65 हजार मुसलमान तीन महीने पहले राखेन राज्य पर हुए हमले के बाद म्यांमार से भागकर सीमा पार करके बांग्लादेश में आ गए थे।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क समूह प्रदेश 18 के अनुसार म्यांमार की नेता आंग सान सूकी ने भागे हुए रोहिंग्या मुस्लिम शरणार्थियों की समस्या के समाधान के लिए अपने एक विशेष दूत को इस सप्ताह में बांग्लादेश भेजा है।

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के प्रवक्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री ने म्यांमार के उप विदेश मंत्री कियावटन से कहा है कि म्यांमार को बांग्लादेश में रह रहे सभी रोहिंग्या मुसलमानों को स्वीकार करना होगा. उधर म्यांमार की विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता आई आई सु ने कहा कि दोनों देश जल्द ही ‘पहचान और प्रमाणीकरण प्रक्रिया’ पर बातचीत शुरू करेंगे। म्यांमार के प्रवक्ता ने कहा, कि ” अगर यह शरणार्थी म्यांमार के हुए तो उचित समय पर उन्हें अपने देश लाया जाएगा। ” उन्होंने साथ ही यह भी कहा कि बातचीत के लिए कोई समय सीमा निर्धारित नहीं की गई है।

वहीं दूसरी ओर बांग्लादेश में शरण लेने वाले रोहिंग्या मुसलमानों ने चौंकाने वाले खुलासे करते हुए कहा कि म्यांमार की पुलिस और सेना उनके साथ मारपीट करते हैं। इसके अलावा उनका यौन उत्पीड़न और बर्बर हत्या करते हैं। शरणार्थियों का कहना है कि पुलिस ने मनमाने ढंग से ग्रामीणों को गिरफ्तार किया और उनके घरों में आग लगा दी।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT