Friday , August 18 2017
Home / Hyderabad News / मख़लवा जायदादों पर भरतीयों से पहले मुसलमानों को तहफ़्फुज़ात ज़रूरी

मख़लवा जायदादों पर भरतीयों से पहले मुसलमानों को तहफ़्फुज़ात ज़रूरी

हैदराबाद 22 सितंबर: रियासत तेलंगाना में मुसलमानों को 12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात के लिए जारी रोज़नामा सियासत की मुहिम अब तहरीक की शक्ल इख़तियार कर गई है।

रियासत के अज़ला में अवाम तहसीलदार आर डी ओ ज़िला कलेक्टरस के अलावा अवामी मुंख़बा नुमाइंदों वुज़रा अरकाने असेंबली से मुलाक़ात में कोई एसा मौक़ा नहीं छोड़ना चाहते जिसमें 12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात के लिए नुमाइंदगी की जा सके।

इस जारी मुहिम के बावजूद ग़ैर महसूस तरीके से सरकारी इदाराजात में मख़लवा जायदादों पर तक़र्रुत के अमल से मुस्लिम अक़लियत तशवीश का शिकार है।

जहां एक तरफ़ मुस्लिम अक़लियत को चीफ़ मिनिस्टर के वादे पर भरोसा तो हैं लेकिन दूसरी तरफ़ तक़र्रुत के अमल से मुस्लमान तशवीश में मुबतला हो कर तहरीक में शिद्दत पैदा कर रहे हैं। अब अज़ला के अलावा शहरे हैदराबाद में भी इस तहरीक ने ज़ोर पकड़ लिया है।

सिकंदराबाद कंटोनमेंट इलाके की तंज़ीम जो कंटोनमेंट इलाके में काफ़ी असर रखती है सिकंदराबाद कंटोनमेंट पीपल्ज़ वेलफेयर कमेटी के वफ़द ने सदर एम-ए जमील की क़ियादत में एडीटर सियासत ज़ाहिद अली ख़ान और न्यूज़ एडीटर सियासत आमिर अली ख़ान जो 12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात तहरीक की क़ियादत कर रहे हैं मुलाक़ात की और उनकी गुलपोशी करते हुए मुबारकबाद पेश की।

कमेटी ने सिकंदराबाद के कोने कोने में अवाम का शऊर बेदार करने पर सियासत की इस तहरीक को मज़बूत करते हुए हुसूल तहफ़ज़ात तक तहरीक से जड़े रहने का अज़म ज़ाहिर किया।

वफ़द में एम-ए कौसर पाशाह नायब सदर मुहम्मद असलम जनरल सेक्रेटरी सय्यद सलीम सेक्रेटरी के अलावा मुहम्मद अरशद अबदुलकरीम-ओ-दुसरे मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT