Wednesday , October 18 2017
Home / India / यदि यूरप्पा को मनाने जेटली बैंगलौर रवाना

यदि यूरप्पा को मनाने जेटली बैंगलौर रवाना

बी जे पी क़ाइद अरूण जेटली कल रात बैंगलौर पहुंच गए थे ताकि साबिक़ चीफ़ मिनिस्टर कर्नाटक बी एस यदि यूरप्पा को बी जे पी से अगले महिने तर्क-ए-ताल्लुक़ करने के अपने फ़ैसले को तबदील करने की तरग़ीब दे सकीं। बी जे पी ज़राए के बमूजब जेटली के हमराह

बी जे पी क़ाइद अरूण जेटली कल रात बैंगलौर पहुंच गए थे ताकि साबिक़ चीफ़ मिनिस्टर कर्नाटक बी एस यदि यूरप्पा को बी जे पी से अगले महिने तर्क-ए-ताल्लुक़ करने के अपने फ़ैसले को तबदील करने की तरग़ीब दे सकीं। बी जे पी ज़राए के बमूजब जेटली के हमराह अनंत कुमार भी हैं, लेकिन ज़राए इबलाग़ की इत्तेला के बमूजब क़ाइद अप्पोज़ीशन राज्य सभा यदि यूरप्पा से मुलाक़ात करचुके हैं।

यदि यूरप्पा ने पिछ्ले साल चीफ़ मिनिस्टर कर्नाटक यदि यूरप्पा ने एक इक़दाम करते हुए कहा था कि वो दिसमबर में कावेरी से अपनी सयासी पार्टी का ऐलान करेंगे। बी जे पी ने यदि यूरप्पा को पार्टी से मुस्ताफ़ी होने से रोकने की आख़िरी कोशिश की, लेकिन वाज़िह तौर पर पार्टी को इस में नाकामी का मुँह देखना पड़ा क्योंकि यदि यूरप्पा ने अपना मौक़िफ़ अटल रखते हुए कहा कि वो पहले ही बी जे पी से तर्क-ए-ताल्लुक़ करने का कई मुक़ामात पर ऐलान करचुके हैं और इस सिलसिले में उन्होंने काफ़ी तवील मुद्दती दौरा किए हैं, इस लिए नई इलाक़ाई पार्टी क़ायम करने का उनका मंसूबा तबदील नहीं होसकता।

वो 9 दिसमबर को नई पार्टी के क़ियाम का कावेरी के एक जल्सा-ए-आम में एलान करेंगे। दरीं असना अरूण जेटली कल रात से उन्हें तरग़ीब देने की कोशिश में मसरूफ़ हैं कि वो बी जे पी से तर्क-ए-ताल्लुक़ ना करें। यदि यूरप्पा को पिछ्ले साल बंद दरवाज़े के मुज़ाकरात के बाद चीफ़ मिनिस्टर कर्नाटक के ओहदा से मुस्ताफ़ी होने पर मजबूर किया गया था।

वो पूरी रियासत कर्नाटक का दौरा करके नई इलाक़ाई पार्टी के क़ियाम की काफ़ी तशहीर करचुके हैं। ज़राए के बमूजब हालाँकि यदि यूरप्पा ने जेटली से कल रात मुलाक़ात की। ताहम उन्होंने अरूण जेटली पर खुले अलफ़ाज़ में वाज़िह कर दिया कि अब समझौता का कोई इमकान बरक़रार नहीं है, लेकिन अख़बारी नुमाइंदों के सामने जो उनकी क़ियामगाह पर जमा होगए थे

उन्होंने अरूण जेटली से मुलाक़ात का एतराफ़ नहीं किया। इस बारे में सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने सिर्फ़ ये कहा कि 9 दिसमबर को उनकी नई पार्टी के आग़ाज़ के मंसूबा में कोई तबदीली नहीं आई है और वो 9 दिसमबर को अपनी नई पार्टी तशकील देने का एलान ज़रूर करेंगे , चाहे कोई इनका साथ दें या ना दें।

TOPPOPULARRECENT