Monday , August 21 2017
Home / Khaas Khabar / यमन: स्कूल सैन्य बैरकों में तब्दील, 25 लाख बच्चे शिक्षा से वंचित

यमन: स्कूल सैन्य बैरकों में तब्दील, 25 लाख बच्चे शिक्षा से वंचित

सना: यमन में होती मलेशिया की ओर से हुकुमत की तख्ता पलट के बाद कम उम्र के बच्चों को युद्ध का ईंधन बनाया गया, अब एक नई रिपोर्ट सामने आई है जिसमें बताया गया है कि येमेनी मलेशिया ने देश के ज्यादातर शहरों में स्थापित स्कूलों को अपनी सैन्य बैरकों और सैन्य छावनियों में तब्दील कर रखा है, जिससे 25 लाख येमेनी बच्चे शिक्षा प्राप्त करने से वंचित हैं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

अल अरबिया डॉट नेट के अनुसार यमन में बच्चों को शिक्षा से वंचित रखने की विद्रोहियों की साज़िशों पर आधारित रिपोर्ट मिडिया सेंटर फॉर एजुकेशन स्टडीज़ की ओर से जारी की गई है, जिसमें बताया गया है कि पंद्रह लाख येमेनी बच्चे लगातार दो साल से शिक्षा से वंचित हैं। रिपोर्ट के मुताबिक़ येमेनी विद्रोहियों की कार्रवाईयों, हमलों और लड़ाई के परिणामस्वरूप 3500 स्कूल बंद या नष्ट हो चुके हैं।

रिपोर्ट के अनुसार यमन में 1495 स्कूलों में पढ़ने वाले 10 लाख से अधिक बच्चों की शिक्षा प्रभावित हुई है। विद्रोहियों की ओर से स्कूलों को सैन्य शिविरों या शरणार्थी शिविरों में बदल दिया गया है।

रिपोर्ट के अनुसार यमन में 8 लाख बच्चे अपने माता-पिता और परिवार के साथ घर बार छोड़ने और वैकल्पिक स्कूलों में जाने पर मजबूर हुए हैं जहां उन्हें मामूली स्तरीय शैक्षिक सुविधाएं भी हासिल नहीं हैं।

रिपोर्ट में बताया गया है कि होती मलेशिया की कारस्तानियों के परिणामस्वरूप बच्चों की शिक्षा प्रभावित होने में देश के सभी शहर शामिल हैं मगर तअज़ राज्यपाल सबसे ज्यादा प्रभावित हुई है। तअज़ में 400 स्कूल बंद किए जा चुके हैं और 2 लाख बच्चे शिक्षा के नियामत से वंचित हैं।

TOPPOPULARRECENT