Tuesday , October 24 2017
Home / Khaas Khabar / यशवंत ने ले ली जमानत

यशवंत ने ले ली जमानत

साबिक मरकज़ी वज़ीर और भाजपा के सीनीयर लीडर यशवंत सिन्हा ने आखिर जमानत ले ली है। यशवंत सिन्हा ने बुध के रोज़ सीजेएम कोर्ट में जमानत की अर्जी दाखिल की।

साबिक मरकज़ी वज़ीर और भाजपा के सीनीयर लीडर यशवंत सिन्हा ने आखिर जमानत ले ली है। यशवंत सिन्हा ने बुध के रोज़ सीजेएम कोर्ट में जमानत की अर्जी दाखिल की।

इससे पहले सिन्हा ने जमानत लेने से और जमानत मुचलके भरने से इनकार कर दिया था। यशवंत सिन्हा ने पार्टी के सीनीयर लीडर लालकृष्ण आडवाणी की जेल में उनसे मुलाकात के बाद ली है।

बिजली बोहरान के मामले में गिरफ्तार किए जाने पर जमानत लेने से इनकार करने पर सिन्हा को तकरीबन 15 दिन जेल में बिताने पडे। सिन्हा के खिलाफ यह मामला बिजली के मुलाज़्मीन के साथ मारपीट और उन्हें यरगमाल बनाने से जुडा है, जिसमें मुलाज़्मीन की शिकायत के बाद उन्हें हिरासत में लेकर कोर्ट में पेश किया गया था।

कोर्ट में सिन्हा ने जमानत मुचलके भरकर रिहा होने से इनकार कर दिया था, इस पर कोर्ट ने उन्हें अदालती हिरासत में भेज दिया था। तभी से वह हजारीबाग की सेंट्रल जेल में बंद हैं। मंगल के रोज़ भाजपा लीडर लालकृष्ण आडवाणी ने जेल में सिन्हा से मुलाकात की थी।

बताया जा रहा है कि इस मुलाकात के जरिए आडवाणी ने सिन्हा को जमानत लेकर जेल से बाहर आने के लिए मनाया। सिन्हा से जेल में मुलाकात करने के बाद आडवाणी ने मंगल के रोज़ नामानिगारों से कहा था कि सिन्हा को जमानत लेकर जेल से बाहर आना चाहिए और झारखंड में बिजली के बोहरान के खिलाफ भाजपा की तरफ से चलायी जा रही तहरीक की कियादत करनी चाहिए।

उन्होंने कहा था कि इस साल के आखिर में होने वाले विधानसभा इंतेखाबात के बाद सीएम बनने के लिए सिन्हा बिल्कुल सही सख्श हैं। सिन्हा और उनके कुछ हामियों को बीते दो जून को उस वक्त गिरफ्तार कर लिया गया था, जब हजारीबाग ब्रांच के जेएसईबी के जनरल मैनेजर धनेश झा ने यह कहते हुए एफआईआर दर्ज कराई थी कि उन लोगों ने झा के दफ्तर के पास मुज़ाहिरा करते हुए उन्हें बांधने की कोशिश की ।

अगले दिन इन सभी ने जमानत लेने से मना कर दिया तो अदालत ने इन्हें 14 दिन की अदालती हिरासत में भेज दिया।

जब इन्होंने 16 जून को भी जमानत के लिए अर्जी नहीं दी, तो अदालत ने इनकी हिरासत 28 जून तक बढा दी। 12 जून को भाजपा लीडर शाहनवाज हुसैन और राजीव प्रताप रूडी ने भाजपा सदर राजनाथ सिंह की ओर से सिन्हा से गुजारिश किया था कि वह जमानत ले लें और रियासत में पार्टी की तहरीक का हिस्सा बनें।

सिन्हा के इलावा, उनके सभी हामियों को भी जमानत मिल गई थी। सिन्हा के वकील अनिल कुमार सिन्हा और राजकुमार राजू की तरफ से जमानत की दरखास्त पेश किये जाने पर चीफ जूडीशियल मजिस्ट्रेट आरबी पाल ने जमानत मंजूर कर ली।

TOPPOPULARRECENT