Thursday , August 24 2017
Home / International / यहूदी बस्ती प्रस्ताव: इस्राइल ने कहा संयुक्त राष्ट्र के साथ वो अपने संबंधों पर दोबारा विचार करेगा

यहूदी बस्ती प्रस्ताव: इस्राइल ने कहा संयुक्त राष्ट्र के साथ वो अपने संबंधों पर दोबारा विचार करेगा

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में फलीस्तीनी क्षेत्र से यहूदियों बस्तियों को हटाने संबंधी प्रस्ताव पारित होने के बाद इस्राइली की तरफ से बड़ा बयान आया है। इस्राइली प्रधानमंत्री बिन्यामिन नेतन्याहू ने कहा है कि उनका देश संयुक्त राष्ट्र के साथ अपने संबंधों पर दोबारा विचार करेगा।

नेतन्याहू ने जोर देकर कहा है कि उनका देश सुरक्षा परिषद में पारित प्रस्ताव को मानने के लिए बाध्य नहीं है। उन्होंने कहा, ”मैंने विदेश मंत्रालय को निर्देश दिया है कि संयुक्त राष्ट्र के साथ हर तरह के अनुबंध पर दोबारा मूल्यांकन किया जाए। इसमें संयुक्त राष्ट्र संस्थानों को मिलने वाली वित्तीय मदद और उसके प्रतिनिधियों की इस्राइल में मौजूदगी भी शामिल है।” उन्होंने संयुक्त राष्ट्र के निर्णय को भेदभावपूर्ण और शर्मनाक बताते हुए कहा कि इसमें समय लगेगा, लेकिन इस फैसले को अमान्य कर दिया जाएगा।” वहीं दूसरी तरफ फलस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास के एक प्रवक्ता ने कहा है कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का यह प्रस्ताव इस्राइली नीतियों के लिए बड़ा धक्का है।”

गौरतलब है कि संयुक्त राष्ट्र ने सुरक्षा परिसद में एक प्रस्ताव पारित कर इस्रराइल से कहा था कि वो फलस्तीनी क्षेत्र से अपने अवैध यहूदी बस्तियां हटाएं। अमेरिका ने भी इस प्रस्ताव पर वीटो करने से मना कर दिया था और मतदान में हिस्सा नहीं लिया था।

ऐसा पहली बार था कि अमेरिका ने 1979 के बाद अवैध यहूदी बस्तियों पर संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव का समर्थन करते हुए इस्राइल की आलोचना की। हालांकि इस प्रस्ताव का विरोध अमेरिका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने किया था। उन्होंने इस प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया देते हुए ट्विटर लिखा था कि संयुक्त राष्ट्र के लिए, 20 जनवरी के बाद स्थितियां बदल जाएंगी।

TOPPOPULARRECENT