Sunday , August 20 2017
Home / Featured News / यह मत खाओ, वह मत पहनो, इश्क़ तो बिलकुल करना मत “देश द्रोह की छाप तुम्हारे ऊपर भी लग जायेगी”

यह मत खाओ, वह मत पहनो, इश्क़ तो बिलकुल करना मत “देश द्रोह की छाप तुम्हारे ऊपर भी लग जायेगी”

jnu-protests_650x400_41455627679

‘धर्म में लिपटी वतन परस्ती क्या क्या स्वांग रचाएगी
मसली कलियाँ, झुलसा गुलशन, ज़र्द ख़िज़ाँ दिखलाएगी

यूरोप जिस वहशत से अब भी सहमा सहमा रहता है
खतरा है वह वहशत मेरे मुल्क में आग लगायेगी

जर्मन गैसकदों से अबतक खून की बदबू आती है
अंधी वतन परस्ती हम को उस रस्ते ले जायेगी

अंधे कुएं में झूट की नाव तेज़ चली थी मान लिया
लेकिन बाहर रौशन दुनियां तुम से सच बुलवायेगी

नफ़रत में जो पले बढे हैं, नफ़रत में जो खेले हैं
नफ़रत देखो आगे आगे उनसे क्या करवायेगी

फनकारो से पूछ रहे हो क्यों लौटाए हैं सम्मान
पूछो, कितने चुप बैठे हैं, शर्म उन्हें कब आयेगी

यह मत खाओ, वह मत पहनो, इश्क़ तो बिलकुल करना मत
देश द्रोह की छाप तुम्हारे ऊपर भी लग जायेगी

यह मत भूलो अगली नस्लें रौशन शोला होती हैं
आग कुरेदोगे, चिंगारी दामन तक तो आएगी’

गौहर रज़ा
दिल्ली
4.03.2016⁠⁠

TOPPOPULARRECENT