Thursday , August 17 2017
Home / India / यासीन भटकल की पत्नी ने कहा भूख की वजह से धीरे धीरे मर रहे हैं मेरे बच्चे

यासीन भटकल की पत्नी ने कहा भूख की वजह से धीरे धीरे मर रहे हैं मेरे बच्चे

नई दिल्ली : अबुल फजल एंक्लेव में रह रही यासीन भटकल की पत्नी जाहिदा इरशाद खान का कहना है कि उसके पास  बच्चों को खाना खिलाने के लिए पैसे नहीं हैं| इंडियन मुजाहिद्दीन के आतंकी यासीन भटकल को हैदराबाद ब्लास्ट मामले में मौत की सजा मिली है | यासीन भटकल को हैदराबाद ब्लास्ट मामले में एनआईए की कोर्ट ने 19 दिसंबर को चार अन्य आतंकियों के साथ मौत की सजा सुनाई है|

जाहिदा के हवाले से  अंग्रेजी अखबार मेल टुडे ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि भूख कि वजह से मेरे बच्चे धीरे धीरे मर रहे हैं, मेरे पास कैश नहीं है| मेरी बड़ी बेटी को तेज बुखार है। बच्चों का ख्याल रखने वाला कोई नहीं है। हमारा इस दुनिया से कोई नहीं है। प्लीज हमें अकेले रहने दीजिए।’ रिपोर्ट् के मुताबिक साल 2010 में  भटकल ने जाहिदा से शादी की थी|  जाहिदा आईएम सदस्य मोहम्मद इरशाद खान की बेटी है|  साल 2011 में इरशाद को हथियारों की अवैध फैक्ट्री चलाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था |  खान की फैक्ट्री में ही भटकल काम करता था|  उसने अपने आपको इमरान अहमद बताया था|  इरशाद और यासीन के असली रूम के बारे जाहिदा और उसकी मां को इरशाद और यासीन के असली रूप के बारे में नहीं पता था|

जाहिदा अभी दस बच्चों की देखभाल कर रही है|  इनमें से कुछ जाहिदा और भटकल के हैं|  जाहिदा का कहना है कि उसके पति आतंकी नहीं है| जाहिदा ने कहा कि हमारे परिवार के साथ ज्यादती की गई है मेरे पति बेगुनाह हैं | यासीन की पत्नी चंदे की पैसों पर अपना घर चला रही हैं| उनके पास कमाई को कोई नियमित साधन नहीं है| जाहिदा के हवाले से रिपोर्ट में जाहिदा के हवाले से लिखा है कि अगर हमारी हालत नहीं सुधरती है तो खुद को खत्म करने से पहले मैं अपने बच्चों को मार दूंगी | मैं यासीन भटकल की पत्नी हूं इसलिए मेरी नौकरी भी छूट गई है, लोग अब मेरे घर पर उर्दू सीखने के लिए अपने बच्चों को भी नहीं भेजते| हमें ज्यादा परेशानी तब आई, जब हमारा पता सार्वजनिक कर दिया गया।’ जब तक यासीन भटकल का नाम आतंकी गतिविधियों में नहीं आया था, तब तक जाहिदा शाहीद बाग में एक उर्दू टीचर के तौर पर पढ़ाती थीं। बाद में जाहिदा ने घर पर ही उर्दू पढ़ाना शुरू कर दिया।

यासीन भटकल प्रतिबंधित आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिद्दीन का सह-संस्थापक है। उसे बिहार में भारत-नेपाल बॉर्डर से अगस्त 2013 में गिरफ्तार किया गया था|  हैदराबाद ब्लास्ट मामला जिसमें 19 लोगों की मौत हो गई थी, के संबध में उसकी गिरफ्तारी हुई थी|

 

TOPPOPULARRECENT