Tuesday , October 24 2017
Home / World / यूक्रेन बोहरान के साए में आलमी क़ाइदीन की डी डे में शिरकत

यूक्रेन बोहरान के साए में आलमी क़ाइदीन की डी डे में शिरकत

तारीख़ी डी डे की 70वीं सालगिरा के मौक़ा पर फ़्रांस में आलमी क़ाइदीन इस का जश्न मनाने के लिए जमा हो गए हैं। उसी दिन फ़्रांस पर जर्मनी ने हमला किया था जिस के नतीजा में दूसरी आलमगीर जंग के ख़ातमा के दिन क़रीब आ गए थे।

तारीख़ी डी डे की 70वीं सालगिरा के मौक़ा पर फ़्रांस में आलमी क़ाइदीन इस का जश्न मनाने के लिए जमा हो गए हैं। उसी दिन फ़्रांस पर जर्मनी ने हमला किया था जिस के नतीजा में दूसरी आलमगीर जंग के ख़ातमा के दिन क़रीब आ गए थे।

मौजूदा साल यूक्रेन के बोहरान के पसमंज़र में इस तारीख़ी वाक़िया की 70वीं सालगिरा मनाई जा रही है। शुमाली फ़्रांस के साहिलों पर तक़रीबात मुनाक़िद की गईं। तारीख़ में ये सब से बड़ा समुंद्री हमला था जो 1944 में किया गया था।

आज मनाई जाने वाली तक़रीब में सरब्रहाने ममलकत, शाही ख़ानदानों के अफ़राद और वुज़राए आज़म सैंकड़ों मुअम्मर अफ़राद के साथ जिन की उमरें 90 साल से ज़्यादा थीं, इस तक़रीब के मौक़ा पर दौड़ में शिरकत करते हुए नज़र आए।

इन उम्र रसीदा अफ़राद में नाज़ी फ़लसफ़ा से यूरोप में नजात दिलाने के लिए अपनी जानें दाँव पर लगा दी थीं। आज का दिन इंतिशार और आतिशज़नी के वाक़ियात के साथ शुरू हुआ और ख़ून और आँसूओं के बहने पर ख़त्म हुआ था।

TOPPOPULARRECENT