Monday , June 26 2017
Home / Social Media / यूट्यूब की सारी सुविधाएं हिन्दी और दूसरी भारतीय भाषाओं में भी

यूट्यूब की सारी सुविधाएं हिन्दी और दूसरी भारतीय भाषाओं में भी

यूट्यूब पर हम सभी लोग अपने मनपसंद वीडियो देखते और शेयर करते हैं. अब तक हमें सिर्फ़ अंग्रेजी भाषा में इसको देखते और इस्तेमाल करते आए हैं. लेकिन जल्द ही आपको ये सारी सुविधाएं हिन्दी और दूसरी भारतीय भाषाओं में मिलेगी. यू-ट्यूब आपके लोकेशन का पता लगाने के बाद आपको विकल्प देगा कि आप अपनी पसंदीदा भाषा को आगे के लिए सेट कर सकते हैं. मीडियानामा के मुताबिक़ फिलहाल ये सुविधा हिंदी, गुजराती, कन्नड़, मलयालम, मराठी, पंजाबी, तमिल और तेलुगू में मिलेगी.

अगर आप पहली बार यूट्यूब इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको अपनी चुनी हुई भाषा में तरह-तरह के वीडियो देखने का विकल्प मिलेगा. जो लोग यूट्यूब इस्तेमाल करते हैं उनके लिए देखने की हिस्ट्री पर नज़र रखते हुए यूट्यूब की तरफ से वीडियो के सुझाव दिखाई देंगे. ऐसा पहली बार हुआ है कि यूट्यूब भारत में अपनी सर्विस इतनी भाषाओँ में खोजना आसान कर रहा है. गूगल लोगों की पसंदीदा भाषा में वीडियो इसीलिए दिखाना चाहता है ताकि लोग वीडियो देखने के लिए सिर्फ़ यूट्यूब का इस्तेमाल करें. इससे भारत जैसे बाज़ार पर उसकी पकड़ मज़बूत बनी रहेगी और फ़ेसबुक के वीडियो की पहल से उसे टक्कर लेने में मदद भी मिलेगी.

वीडियो देखने के लिए लोगों की पहली पसंद बनने के लिए गूगल और भी बहुत कुछ कर रहा है. हाल में ही यूट्यूब ने गो फॉर इंडिया लॉन्च किया है. इसके जरिए आप ऑफ़लाइन होने की बावजूद गो यूजर को वीडियो भेज सकते हैं. आप वीडियो और गेम्स भी ऑफ़लाइन सेव कर सकते हैं. ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि भारत में इंटरनेट की कनेक्टिविटी कई देशों के मुकाबले ख़राब है. यूट्यूब की कोशिश है कि वेबसाइट को और भी बेहतर बनाया जाए इसलिए उसने कल्चर मशीन के साथ मिलकर असली वीडियो कंटेंट जारी किया जाए. गूगल ने यूट्यूब हीरोज लॉन्च किया गया है, ये एक ऐसा प्रोग्राम है जिसके जरिए यूजर उस वीडियो को रिपोर्ट कर सकते हैं जो निर्देशों का पालन नहीं करते.

यूजर्स इसमें कैप्शन और सब टाइटल जोड़ सकते हैं. इसके जरिए उन यूजर पर कार्रवाई की जा सकती है जो ऐसे वीडियो अपलोड करते हैं जो विज्ञापन के लिहाज से सही नहीं हैं. लेकिन कई यूट्यूब को लेकर शिकायत भी की जाती है. सबसे ज्यादा कॉपीराइट और कंटेंट को लेकर शिकायत होती है। यूट्यूब पर हर दिन लाखों वीडियो शेयर किए जाते हैं. ऐसे हर वीडियो की निगरानी कर पाना नामुमकिन है. कुछ वीडियो के जरिए अपराध को बढ़ावा भी मिलता है. भारत में कुछ कड़े क़ानून की वजह से यूट्यूब को इसमें बदलाव करने पड़े हैं.

Top Stories

TOPPOPULARRECENT