Thursday , August 17 2017
Home / Featured News / यूनाइटेड किंगडम के पूर्व राजदूत ने ” इराक युद्ध के पीछे मंशा ” का किया खुलासा

यूनाइटेड किंगडम के पूर्व राजदूत ने ” इराक युद्ध के पीछे मंशा ” का किया खुलासा

स्कॉटलैंड के सेंट एंड्रयू में बात करते हुए पूर्व यूके राजदूत ने इराक युद्ध के कारणों का खुलासा किया। क्रेग मोरी ने कहा कि इराक में ब़डे पैमाने पर तबाही मचाने वाले हथियारों की मौजूदगी के बारे में टोनी ब्लैर और अमेरिका हमले से पहले की गई थी| बीस साल तक राजनयिक सेवा अंजाम देने वाले मोरी ने ब्रिटिश बाहरी कार्यालय में ब्रिटिश राजदूत के रूप में काम किया था।

क्रेग मोरी के अनुसार इराक युद्ध के पीछे तथ्य …

पूर्व राजदूत ने कहा कि ” मैं जहां राजदूत था वहाँ पर सिर्फ छह महीने में इस बात का पता चला कि ‘हम और अमेरिकियों ने लोगों को यहाँ से पीड़ा पहुंचाने और कुछ लोगों को मरने तक सताया देने के लिए स्थानांतरित करने का काम शुरू कर दिया है। अब आप कल्पना कर सकते हैं कि मेरा विश्व दृश्य बदल हो गया। एक महीने बाद हमने सुरक्षा परिषद की मर्जी के खिलाफ इराक पर हमला किया| ना केवल सुरक्षा परिषद की अनुमति के खिलाफ बल्कि अगर इस बात का भी पता था कि अगर मामले सुरक्षा परिषद में जाएगा तो हम वोट नहीं डालेंगे। ‘उन्होंने ने कहा कि बतौर ब्रिटिश राजदूत उन्होंने इन सभी आंतरिक मीमवज़ मनाया जो इस निर्णय के आधार पर जारी किए गए थे…

बड़े पैमाने पर तबाही मचाने वाले हथियारों की खोज के लिए निर्धारित किया गया एफसी ओ इकाई निगरानी भी जिम्मेदारी आवंटित की गई थी। उन्होंने खुलासा किया कि ” सभी तथ्य से परिचित था ‘मैं कह नहीं सकता था’ वे जानते थे यहां कुछ नहीं है ‘यह गलती नहीं थी’ यह झूठ था ‘हमने इराक में वह किया जो हिटलर ओ रमोसलोनिय ने देश के लिए किया था। लीबिया में हमने 15,000 लोगों की हत्या ये वे बातें हैं जो कभी मीडिया के सामने नहीं बताया गया ”। उन्होंने कहा कि जब मैंने अंदर देखा तो मुझे प्रणाली हर भाग भ्रष्ट दिखाई दिया। संभवतः यह संसाधनों पर नियंत्रण का काम था| उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता था विदेश में कितने लोग मारे गए है| उन लोगों ने कहा कि ब्रिटिश ने भी कुछ लोगों को आर्थिक रूप से स्थिर बनाने के लिए यह काम अंजाम दिया है। उक्त राजदूत ने सभी चीजों और बातों का खुलासा किया है

TOPPOPULARRECENT