Wednesday , June 28 2017
Home / Election 2017 / यूपी चुनाव: आरएसएस पृष्ठभूमि के नेताओं को बीजेपी ने दिया चुनाव प्रबंधन का जिम्मा

यूपी चुनाव: आरएसएस पृष्ठभूमि के नेताओं को बीजेपी ने दिया चुनाव प्रबंधन का जिम्मा

प्रतीकात्मक तस्वीर

लखनऊ। यूपी विधानसभा चुनाव में जीत के लिए भारतीय जनता पार्टी बड़े से बड़ा दांव खेलने को तैयार है। इसी तर्ज पर बीजेपी ने पांच ऐसे नेताओं को चुनाव प्रबंधक बनाया है, जो आरएसएस पृष्ठभूमि से हैं। ये सभी नेता 11 फरवरी से शुरू हो रहे यूपी चुनाव को लेकर बीजेपी की ओर से प्रचार करते नजर आएंगे।

इन चुनावी प्रबंधकों में चार बिहार से हैं, इनके नाम हैं बिहार बीजेपी के महासचिव (संगठन) नगेंद्र नाथ, बिहार के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंद किशोर यादव और मंगल पांडे और एमएलसी संजय मयूख।

पांचवें नेता अरविंद मेनन हैं जो मध्य प्रदेश के पूर्व महासचिव (संगठन) पद पर रहे हैं और वर्तमान में बीजेपी के दिल्ली स्थित केंद्रीय संगठन से जुड़े हुए हैं। ये नेता चुनाव की रणनीति बनाने में माहिर माने जाते हैं। वर्तमान में ये कार्यकर्ताओं और उम्मीदवारों के बीच समन्यवय स्थापित करने की कोशिश में जुटे हुए हैं।

नगेंद्र नाथ की बात करें तो उन्होंने उत्तर प्रदेश बीजेपी के महासचिव (संगठन) के तौर पर सात साल तक काम किया है। साल 2012 के यूपी चुनाव के दौरान टिकट बंटवारे में पक्षपात रवैये का आरोप लगने पर फरवरी 2011 में उन्हें बिहार भेज दिया गया। हालांकि 2012 के विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी ने नगेंद्र नाथ को यूपी युवा मोर्चा का इंचार्ज बनाया।

उन्हें युवाओं को आरएसएस की विचारधारा को पहुंचाने की जिम्मेदारी दी गई। उन्हें एबीवीपी का संगठन सचिव भी बनाया गया। इस चुनाव में नगेंद्र नाथ को गोरखपुर और काशी क्षेत्र में काम करने के लिए कहा गया लेकिन उनकी खराब सेहत की वजह से उन्होंने गोरखपुर में काम करने को प्राथमिकता दी। गोरखपुर में 4 मार्च में मतदान है।

बीजेपी एमएलसी संजय मयूख की बात करें तो वो भी बीजेपी के पार्टी हेडक्वार्टर में मौजूद हैं। उन्हें मीडिया सेल की गतिविधियों के प्रबंधन का काम सौंपा गया है। संजय मयूख, पिछले 9 साल से बिहार बीजेपी के उपाध्यक्ष और प्रवक्ता के तौर पर काम कर चुके हैं। उन्होंने 2002 के विधानसभा चुनाव के दौरान गोरखपुर में यूपी बीजेपी के लिए काम किया है। 2007 में ब्रज इलाके में और 2012 में काशी इलाके में उन्होंने मोर्चा संभाल रखा था।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT