Wednesday , October 18 2017
Home / Politics / यूपी: मुख्तार अंसारी की “कौमी एकता दल” का फिर हो सकता है “सपा” में विलय

यूपी: मुख्तार अंसारी की “कौमी एकता दल” का फिर हो सकता है “सपा” में विलय

अफजाल अंसारी और उनके छोटे भाई मुख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल का विलय दोबारा समाजवादी पार्टी में हो सकता है. सूत्रों के मुताबिक पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव खुद इस विलय को अंजाम तक पहुंचाने मे जुट गए हैं. मुलायम को लगता है कि पूर्वांचल में पार्टी को मजबूती प्रदान करने के लिए ऐसा करना जरूरी है. इस फैसले में शिवपाल यादव की हनक भी साफ-साफ दिखाई देती है जो इन दिनों पार्टी से नाराज चल रहे हैं. गौरतलब है कि पिछले जून में मंत्री बलराम सिंह यादव की मध्यस्थता और शिवपाल सिंह यादव की पहल के बाद पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने कौमी एकता दल के विलय को हरी झंडी दे दी थी.

शिवपाल यादव ने पार्टी ऑफिस में बाकायदा इसका ऐलान भी कर दिया था, तब उस वक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मौजूद नहीं थे. बाद में मीडिया में मामला उछलने पर अखिलेश ने मुख्तार को लेकर पार्टी फोरम में अपनी नाराजगी जाहिर की थी और आजतक के कार्यक्रम पंचायत आजतक में पच्चीस जून को साफ-साफ ये ऐलान किया कि वो किसी भी कीमत पर मुख्तार अंसारी को पार्टी में नहीं लेंगे. इसके बाद अखिलेश की नाराजगी को देखते हुए समाजवादी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में इस विलय को रद्द कर दिया गया था.

TOPPOPULARRECENT