Sunday , August 20 2017
Home / India / यूपी विधानसभा चुनाव: एआईएमआईएम का यूपी में 10 लाख सदस्य जुटाने का दावा

यूपी विधानसभा चुनाव: एआईएमआईएम का यूपी में 10 लाख सदस्य जुटाने का दावा

यूपी में डेब्यू करने ऑल इण्‍डिया मजलिस-ए-इतेहदुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) इस विधानसभा चुनाव में अपनी पूरी ताकत झौंकने वाली है।एआईएमआईएम यूपी में पार्टी के सदस्‍यों का एक बड़ा नेटवर्क खड़ा कर चुनावी रण में लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। एआईएमआईएम का दावा है कि यूपी में उसके आठ से दस लाख सदस्‍य जुटा लिये हैं। महाराष्‍ट्र के निकाय चुनाव में एआईएमआईएम को 36 सीट मिलने के बाद से पार्टी यूपी के कार्यकर्ताओं में जोश भर गया है। ऐसे में पार्टी के ये सदस्य पूरे जोश खोश से जमीनी लेवल पर पार्टी का प्रचार कर रहे हैं।

एआईएमआईएम के यूपी हेड ऑफिस इंचार्ज शाहनवाज बताते हैं कि दर्ज आंकड़ों के मुताबिक सूबे में पार्टी सदस्‍यों की संख्‍या करीब आठ लाख है। यह वो सदस्‍य हैं जिन्‍होंने सदस्‍य कैम्‍प के दौरान अलग-अलग शहरों में पार्टी की सदस्‍यता ग्रहण की है। अभी इसमे वो लोग शामिल नहीं हैं जो आनलाइन सदस्‍य बन रहे हैं। उनका दावा है कि सबसे ज्‍यादा सदस्‍य अमरोह में करीब एक से सवा लाख हैं। उसके बाद मेरठ में 50 से 60 हजार और कानपुर में करीब 40 हजार सक्रिय सदस्‍य हैं।
वहीं आगरा, सुल्‍तानपुर, अलीगढ़, बरेली, मुरादाबाद और फैजाबाद में यह संख्‍या 20 से 30 हजार है।

दॉ स्‍टाडी ऑफ सोसाइटी एण्‍ड पॉलीटिक्‍स के केके वर्मा बताते हैं कि एआईएमआईएम के सदस्‍यों की संख्‍या चार लाख हो या दस लाख यह अपनी जगह है। लेकिन चौंकाने वाली बात यह है कि महाराष्‍ट्र के नतीजों को देखते हुए एआईएमआईएम यूपी में भी पहले से मौजूद बड़े दलों की नींद हराम कर सकती है।

बेशक यूपी में एआईएमआईएम की जीत का आंकड़ा बहुत छोटा हो सकता है, लेकिन दूसरे दलों की जीत में उसके वोटर रोड़ा बनेंगे। यूपी में एआईएमआईएम का वोटर महाराष्‍ट्र वाली ट्रिक अपना सकता है। वोटर अब मुस्‍लिम दल पर निगाह लगा रहे हैं। अगर यूपी में भी ऐसा होता है तो इसका सबसे ज्‍यादा खामियाजा सपा को उठाना पड़ सकता है।

सपा की प्रवक्‍ता जुही सिंह का कहना है कि सपा के सामने एआईएमआईएम की सदस्‍य संख्‍या कुछ भी नहीं है। रहा सवाल चुनावों में असर पड़ने का तो एआईएमआईएम से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है। हम अपनी तैयारियों में लगे हुए हैं।

TOPPOPULARRECENT