Monday , September 25 2017
Home / World / यूरोपीय यूनीयन और तुर्की की डील

यूरोपीय यूनीयन और तुर्की की डील

बर्रे आज़म यूरोप की तरफ़ गै़र क़ानूनी हिज्रत के इंसिदाद के लिए तुर्की और यूरोपीय यूनीयन के माबैन मुआहिदा तय पा गया है। इस मुआहिदे की तफ़सीलात सात मार्च को मुनाक़िदा एक समिट में तय की गई थीं और गुज़िश्ता रोज़ ब्रुसेल्ज़ में उसे हतमी शक्ल दे दी गई।

रवां साल बीस मार्च के बाद तुर्की से गै़र क़ानूनी अंदाज़ में यूनान पहुंचने वाले और उन तमाम दीगर तारकीने वतन को वापिस तुर्की भेज दिया जाएगा, जिन्हों ने सियासी पनाह की दरख़ास्तें जमा ना कराई हों या फिर उनकी दरख़ास्तें मुस्तरद की जा चुकी हों।

ये इक़दाम आरिज़ी है और 72 हज़ार अफ़राद की हद तक पहुंचने तक इस पर अमल दरामद किया जाएगा। मुक़र्ररा हद तक पहुंचने तक अक़वामे मुत्तहिदा का हाई कमीशन UNHCR बराए मुहाजिरीन भी इस अमल में मदद फ़राहम करेगा।

बैनुल अक़वामी तहफ़्फ़ुज़ के हक़दार किसी भी पनाह गुज़ीन को अंकरा हुकूमत की जानिब से आलमी सतह पर तस्लीम शूदा हुक़ूक़ और सियासी पनाह के मराहिल तक रसाई और दीगर हुक़ूक़ की फ़राहमी को यक़ीनी बनाया जाएगा।

ये रियायत बिलख़सूस शामी मुहाजिरीन के लिए है। अंकरा हुकूमत गै़र क़ानूनी अंदाज़ में यूरोप की तरफ़ हिज्रत के तमाम मौजूदा और मुम्किना नए रूट्स की बंदिश को यक़ीनी बनाएगी।

पहले से तय शुदा एक यूरोपीय मुआहिदे के तहत उस वक़्त यूनान में मौजूद तमाम पनाह गुज़ीनों को दीगर यूरोपीय ममालिक मुंतक़िल कर दिया जाएगा। जिन मुहाजिरीन के बारे में ये फ़ैसला किया जाएगा कि वो महज़ मआशी मक़ासिद के लिए यूरोप पहुंचे हैं, उन्हें मु़ल्क़ बदर कर दिया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT