Saturday , October 21 2017
Home / India / यू पी ए हुकूमत पर दोस्त पार्टीयों और अपोज़ीशन की आलोचनाएं

यू पी ए हुकूमत पर दोस्त पार्टीयों और अपोज़ीशन की आलोचनाएं

* बढोतरी का फ़ैसला वापिस लेने पर ममता बनर्जी का ज़ोर, बाएं बाज़ू कि पार्टीयां और बी जे पी का मुलक भर में एहतिजाज

* बढोतरी का फ़ैसला वापिस लेने पर ममता बनर्जी का ज़ोर, बाएं बाज़ू कि पार्टीयां और बी जे पी का मुलक भर में एहतिजाज
नई दिल्ली । हुकूमत पर आज इस के हलीफ़ों और हरीफ़ों दोनों ने बराबर आलोचनाएं की। यू पी ए की बहुत हि अहम दोसत पार्टि तृणमूल कांग्रेस और डी एम के ने क़ीमत में बढावे को ना मुंसिफ़ाना क़रार देते हुए इस से तुरंत वापिस लेने का मुतालिबा किया।

ममता बनर्जी ने इस फ़ैसले के वक़्त पर भी आलोचना की जबकि पार्लीमेंट का इजलास कल ही खत्म‌ हुआ। उन्हों ने सवाल किया कि क़ीमत में बढावे का एलान आज क्यों किया गया है। डी एम के प्रमुख एम करूणानिधि ने भी चेन्नाई में इसी किस्म के जज़बात ज़ाहिर करते हुए बढाइ गइ क़ीमत को तुरंत वापिस लेने का मुतालिबा किया।

यू पी ए की बाहर से ताईद करनेवाली समाजवादी पार्टी के प्रमुख‌ मुलाइम सिंह यादव ने भी बढाइ हुइ क़ीमत पर आलॊचना करते हुए इसे आम आदमी के लिए यू पी ए के इक़तिदार के 3 साल पुरा होने पर हुकूमत का तोहफ़ा क़रार दिया।

बी जे पी के अनुवादक‌ प्रकाश जोह देकर ने कहा कि इन की पार्टी पेट्रोल की क़ीमत में बढावा की कडी बुराइ करती है और इसे वापिस लेने का मुतालिबा करती है। उन्हों ने कहा कि बी जे पी ये बढोतरी होने नहीं देगी। एक ताक़तवर जमहूरी एहतिजाज बहुत जल्द‌ शुरू किया जाएगा।

इक़दाम की सख़्त मुख़ालिफ़त करते हुए बाएं बाज़ू की पार्टीयों ने अपनी तमाम शाख़ों को हिदायत दी कि मुल्क भर में तुरंत हडतालों कि शुरुआत‌ कि जाये। सी पी आई एम के जनरल सेक्रेटरी प्रकाश क्रात‌ ने कहा कि ये लोगो पर ज़ालिमाना ज़रब है जो पहले ही से क़ीमतों में बहुत ज्यादा बढावा की वजह से कइ मस्लों मे मुबतला हैं। उन्हों ने तुरंत‌ ताक़तवर एहितजाजी इक़दामात की ज़रूरत पर ज़ोर दिया।

सी पी आई एम, सी पी आई, आर एस पी और फ़ारवर्ड ब्लोक की एक मिटींग‌ हुइ, जिस में इस इक़दाम की मुख़ालिफ़त की गई। सी पी आई लीडर डी राजा ने कहा कि ये डीज़ल और दुसरी पैट्रोल से बनी हुइ चीजों की क़ीमतों में बढावे का इशारा है। कांग्रेस ने इस मस्ले से दामन बचाते हुए कहा कि पेट्रोल कंपनीयां इस मामले में आज़ाद हैं क्योंकि पेट्रोल की क़ीमतों को हुकूमत के कंट्रोल से आज़ाद कर दिया गया है।

पार्टी के अनुवादक‌ राशिद अलवी ने साथ ही साथ ये भी कहा कि ये एक मुश्किल फ़ैसला है। कोलकता से पी टी आई की खबर‌ के मुताबिक‌ ममता बनर्जी ने पैट्रोल की क़ीमत में बढावे को रद‌ कर दिया। लेकिन‌ कहा कि वो यू पी ए हुकूमत को धक्का देने की चाहक‌ नहीं हैं। लेकिन‌ हुकूमत को बढाइ हुइ क़ीमत को तुरंत वापिस लेना चाहीए।

चेन्नाई से मिली खबरों के मुताबिक‌ चीफ़ मिनिस्टर टामिलनाडू जय ललीता ने भी पैट्रोल की क़ीमत में बढाइ हुइ क़ीमत को तुरंत वापिस लेने का मुतालिबा किया और कहा कि यू पी ए हुकूमत के इस लोग‌ दुश्मन इक़दाम से लोगों की ज़िंदगी बुरी तरह बर्बाद‌ हो जायेगी।

TOPPOPULARRECENT