Wednesday , September 27 2017
Home / India / योगी आदित्यनाथ धर्म के नाम पर ज़हर उगलना बंद करें: अमेरिकी आभूषण व्यापारी

योगी आदित्यनाथ धर्म के नाम पर ज़हर उगलना बंद करें: अमेरिकी आभूषण व्यापारी

एवी डांडिया, टेक्सास (यूएसए) से एक भारतीय मूल के अमेरिकी आभूषण व्यापारी ने भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ को खुली चुनौती देते हुए कहा है कि वो धर्म के नाम पर ज़हर उगलना बंद करें |

एवी ने कहा कि प्रत्येक भारतीय मुस्लिम को भारत में रहने का इतना ही हक़ है जितना कि एक हिंदु को , उन्हें भारत में रहने के लिए कोई भी प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने की आवश्यकता नहीं है |

उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि , यह योगी कौन है ? जो शाहरुख़ को पाकिस्तान भेजने की बात कर रहे हैं ? वह कौन होते हैं शाहरुख खान को पाकिस्तान भेजने वाले ? वह कौन होते है देश को बाँटने वाले ?

‘’ये लोग आग को बढ़ावा देते हैं रोज़ रोज़ वही बोल के | क्यूँ जाना है पाकिस्तान हमारे को ? देश हमारा है | शाहरुख़ खान नहीं जायेगा पकिस्तान | शाहरुख़ खान यहीं रहेगा |

‘’ तू कौन है बोलने वाला कि शाहरुख़ खान पाकिस्तान चला जाये. तेरी क्या औकात है .’’

‘’हमारे देश में हिंदु मुस्लिम भाईचारा आर एस एस से ज्यादा पुराना है और इन लोगों की सोच के मुताबिक़ ये बहुत कमज़ोर भी नहीं है | उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि हमारे बीच में साम्प्रदायिकता फैलाने की अनुमति तुम्हें किसने दी है ?

एवी ने अपनी फेसबुक पोस्ट में कहा कि प्रत्येक समुदाय के लोगों को चाहिए की वे , राष्ट्र के विकास में बाधक ऐसे अवसरवादी लोगों की बातों पर ध्यान न दें, और देश में हिंदु मुस्लिम भाईचारे के सुरक्षित भविष्य के लिए ऐसे लोगों को पहचान कर उनसे दूर रहें |

एवी ने कहा की हिंदु राष्ट्र कुछ नहीं है , इस सब खेल के पीछे सिर्फ इनकी अपनी मानसिकता है | भारत एक धर्मनिरपेक्ष गणराज्य है, जो हिंदु मुस्लिम सिख इसाई सब के लिए है | ये धर्म बहुतायात वाला देश है |

काम करते नहीं हैं ये लोग , पिछले डेढ़ साल में सिर्फ एक ही कहानी कि किस तरह देश को तोडा जाये|

‘’ये आदमी(योगी आदित्यनाथ ) कोई न कोई एजेंडा के पीछे है | ये आदमी किसी का एजेंट है |

एवी ने कहा कि मेरा व्यक्तिगत अनुभव है कि मुस्लिम नकली , दोहरी मानसिकता , और पीठ में छुरा घोंपने वाले नहीं होते हैं | आपका अनुभव आपके स्वभाव की ही प्रतिक्रिया होता है | मैं आज जो भी कुछ हूँ अपने माता पिता के आशीर्वाद और अपने मुस्लिम दोस्तों से मिले नि:स्वार्थ प्रेम और दोस्ती के कारण ही हूँ |

उन्होंने जामा मस्जिद के ईमाम बुखारी से अपील की कि वो चुनाव से पहले वोट मांगने आने वाले इन राजनेताओं के एजेंडे को समझते हुए इन्हें ज़्यादा महत्व न दें |
‘’ईमाम साहब जरा सोचिये , इनका एजेंडा समझिये | आप ईमाम हैं, आप समझते हैं ये सब , आपने दुनिया देखी है | आप क्यूँ आने देते हैं इन्हें जो चुनाव से पहले वोट मांगने के लिए आ जाते हैं आपके पास |’’

उन्होंने कहा कि ,भारत में मुस्लिम लोगों के लिए रोज़गार के अवसर और सामाजिक सुरक्षा उपल्बध नहीं है ,और ऐसे में जब तक साध्वी प्राची सहित कट्टरपंथी योगी आदित्यनाथ ,कैलाश विजयवर्गीय जैसे लोग धर्म के नाम पर राजनीति बंद नहीं करेंगे , तब तक वे भारत की विकास में किस तरह अपना योगदान कर सकते हैं |

TOPPOPULARRECENT