Saturday , August 19 2017
Home / Khaas Khabar / योग ऐसा खजाना जो मुफ्त में मिलता है – नकवी

योग ऐसा खजाना जो मुफ्त में मिलता है – नकवी

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में दस सौ से ज्यादा शिविर लगाए गए। विश्वविद्यालय में चल रहे योग सप्ताह के आखिरी दिन केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि यह ऐसा खजाना है, जो मुफ्त में मिलता है। अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय एवं क्रीड़ा भारती के संयुक्त तत्वावधान में सात दिवसीय योग शिविर के अन्तिम दिन हजारों लोगों ने भाग लिया। अन्तर्राष्ट्रीय योगगुरु एवं आयुर्वेदाचार्य स्वामी कर्मवीर जी महाराज ने कई योग क्रियायें सम्पन्न करायीं जिनमें मुख्य रुप से मृदु कृपाल भाति, मृदु भृतशिका, मृदु अनुलोम विलोम, महायोग क्रिया प्रथम भाग, महायोग क्रिया द्वितीय भाग, खेचरी मुद्रा, कपोत उज्जयी, शलभ आसन, ताड़ आसन, नौका आसन, मण्डूक आसन, योग निद्रा एवं हास्यासन आदि कराये।

इसके उपरान्त मुख्य अतिथि केन्द्रीय संसदीय कार्य राज्यमंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि आज पूरी दुनिया योगमय है विश्व के 191 देशों में योग के कार्यक्रम चल रहे हैं। योग किसी धर्म जाति अथवा सम्प्रदाय का नहीं है। विश्व के अनेकों मुस्लिम देशों ने योग की मह}ाा को समझते हुये उसे स्वीकार किया है तथा आज ऐसे देशों में योग के कार्यक्रम चल रहे हैं।

पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान ने कहा कि खेल मनुष्य के जीवन का एक अंग है। उन्होंने आह्वान किया कि योग मनुष्य को स्वस्थ्य तन के साथ स्वस्थ्य मन भी प्रदान करता है इसलिये आज भागदौड़ भरी जीवन शैली में अपने लिये कुछ समय निकालते हुये प्राणायाम एवं योगा5यास अवश्य करें।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 एनके तनेजा ने अपने सम्बोधन में कहा कि भारत की यह प्राचीन परम्परा पुन: अपने स्वर्णिम दौर में है। पूरा विश्व भारत की इस वैज्ञानिक सांस्कृतिक विरासत को अपना रहा है।

TOPPOPULARRECENT