Tuesday , October 24 2017
Home / Entertainment / ‘रईस’ को बिना किसी विरोध के रिलीज़ करवाने के लिए राज ठाकरे से मिले शाहरुख़

‘रईस’ को बिना किसी विरोध के रिलीज़ करवाने के लिए राज ठाकरे से मिले शाहरुख़

मुंबई : अभिनेता शाहरुख़ ख़ान भी अपनी आगामी फ़िल्म ‘रईस’ को बिना किसी विरोध के रिलीज़ करवाने के लिए राज ठाकरे से मिले. शाहरुख़ की फ़िल्म ‘रईस’ में मुख्य अभिनेत्री का किरदार, पाकिस्तानी अदाकारा माहिरा ख़ान निभा रही हैं. शाहरुख़ नहीं चाहते कि जिस तरह महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने फ़िल्म ‘ऐ दिल है मुश्किल’ का विरोध किया था, वैसे ही उनकी फ़िल्म का भी विरोध हो. राज ठाकरे के मुताबिक शाहरुख़ ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि माहिरा इस फ़िल्म के प्रमोशन के लिए भारत नहीं आएंगी और अक्तूबर में किए गए समझौते का पालन किया जाएगा. यानी फ़िल्म से पहले भारतीय सेना के शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी जाएगी और भविष्य में किसी पाकिस्तानी कलाकार को काम नहीं दिया जाएगा. लेकिन क्या शाहरुख़ ख़ान से पाँच करोड़ रुपए का ‘डोनेशन’ करवाया जाएगा? इस बात पर राज ठाकरे और शाहरुख़ में से किसी ने भी सफ़ाई नहीं दी है.

बताते चलें कि, पांच करोड़ रुपए के इस ‘जबरन डोनेशन’ की हर ओर निंदा हुई थी और सेना ने भी जबरन दी गई आर्थिक मदद को लेने से इनकार किया था लेकिन करण की ओर से यह पैसे सेना को दिया गया या नहीं इसकी पुष्टि अभी तक नहीं हुई है. इस सारी जद्दोजहद के बाद मनसे की ओर से पाकिस्तानी कलाकार वाली निर्माणाधीन या निर्मित हो चुकी फ़िल्मों का विरोध न करने का आश्वासन दे दिया गया था लेकिन सात दिसंबर को ‘रईस’ के ट्रेलर लांच के मौके पर इस फ़िल्म के सह निर्माता रितेश सिधवानी ने मीडिया से कह दिया कि माहिरा फ़िल्म का प्रमोशन करने भारत आएंगी.

देशभक्ति बनाम कला के इस विवाद में बॉलीवुड भी दो फाड़ में नज़र आया था जहां एक ओर सलमान ख़ान, अनुराग कश्यप और स्वरा भास्कर जैसे बड़े फ़िल्मी नामों ने मनसे के इस विरोध को अलोकतांत्रिक माना था और खुल कर मनसे का विरोध किया था. बीबीसी को दिए एक साक्षात्कार में अभिनेत्री स्वरा भास्करा ने कहा था, “जब सरकार किसी देश के साथ संबंध ख़त्म करने की घोषणा नहीं कर रही है तो फिर एक पार्टी विशेष के लोग कैसे किसी देश के कलाकारों को लेकर बनने वाली फ़िल्मों को रोक सकते हैं.”

अनुराग कश्यप ने तो इस मामले में ट्विटर के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी ज़िक्र किया था और बीबीसी को दिए एक जवाब में उन्होंने कहा था, “लोग यह बात नहीं समझ रहे कि सिर्फ़ एक कलाकार की वजह से वो कितने भारतीय लोगों का नुकसान कर रहे हैं, यह एक भारतीय निर्माता की फ़िल्म है और इसमें भारत का पैसा लगा है.” लेकिन दूसरी ओर अमिताभ बच्चन, मनोज वाजपेयी और गुलशन ग्रोवर जैसे कलाकारों ने उलझे हुए शब्दों में इस बैन को माना था. अमिताभ बच्चन ने बीबीसी से कहा था, “हमारी सरकार, हमारी एसोसिएशन जो फ़ैसला लेंगी हम उसे मानेंगे. अगर वो कहेंगी कि हमें किसी कलाकार विशेष के साथ काम नहीं करना है तो हम उसके साथ काम नहीं करेंगे, फिर वो चाहे किसी भी देश से हों.”

TOPPOPULARRECENT