Wednesday , October 18 2017
Home / Crime / रणवीर सेना सरबराह क़त्ल: एम एल ए का करीबी साथी गिरफ़्तार

रणवीर सेना सरबराह क़त्ल: एम एल ए का करीबी साथी गिरफ़्तार

बिहार पुलिस की ख़ुसूसी तहक़ीक़ाती टीम (SIT) ने यक्म जून को रणवीर सेना सरबराह ब्रहमेश्वर सिंह मुखिया के क़तल में मुलव्वस ( मिले हुए/ भागीदार) हुक्मराँ जमात के एम एल ए के करीबी साथी को गिरफ़्तार किया है ।

बिहार पुलिस की ख़ुसूसी तहक़ीक़ाती टीम (SIT) ने यक्म जून को रणवीर सेना सरबराह ब्रहमेश्वर सिंह मुखिया के क़तल में मुलव्वस ( मिले हुए/ भागीदार) हुक्मराँ जमात के एम एल ए के करीबी साथी को गिरफ़्तार किया है ।

पुलिस ने जनता दल (यू) के एम एल ए सुनील पांडे के करीबी साथी को जमशेदपुर से गिरफ़्तार किया और उसे पूछ गिछ के लिए बिहार लाया गया है । पुलिस के मुताबिक़ क़तल के इस मुआमला में इस गिरफ़्तारी के बाद तफ़तीश की राहें हमवार हो गई हैं।

अलबत्ता पुलिस ने इस मुआमला में मज़ीद ( और भी) तफ़सीलात बताने से इनकार कर दिया। यहां इस बात का तज़किरा भी ज़रूरी है कि सिर्फ दो रोज़ क़बल SIT ने ज़िला भोजपुर से इस मुआमला में मुलव्वस सात दीगर (और) अफ़राद को भी गिरफ़्तार किया था ।

ब्र्हमेश्वर सिंह को यक्म जून के रोज़ आरा में नामालूम हमलावरों ने क़त्ल कर दिया था । मक़्तूल ने 1994 में रणवीर सेना की दाग़ बैल डाली थी जो दरअसल गैरकानूनी तौर पर चलाई जाने वाली ऊंची ज़ात के हिंदुओं की दहशतगर्द तंज़ीम ( संस्था) थी जो मुतअद्दिद( बहुतसे) क़तल-ए-आम में मुलव्वस पाई गई थी ।

आरा में ब्र्हमेशवर सिंह के क़त्ल के बाद तशद्दुद (मार पीट/ अत्याचार) फूट पड़ा था । यहां तक कि शनिवार के रोज़ जिस वक़्त ब्र्ह्नमेशवर सिंह की अर्थी का जुलूस ले जाया जा रहा था, उस वक़्त भी उन के हामियों ने तशद्दुद बरपा ( मार पीट) किया। SIT को जैसे ही खु़फ़ीया इत्तिला मिली कि क़त्ल में मुलव्वस एक मुश्तबा शख़्स जो दरअसल हुक्मराँ जमात के एम एल ए सुनील पांडे का करीबी साथी है, एक मकान में छिपा हुआ है , फ़ौरी तौर पर इस मकान पर धावा करते हुए उसे गिरफ़्तार किया गया।

TOPPOPULARRECENT