Friday , October 20 2017
Home / Hyderabad News / रमज़ान में फलों की क़ीमतों में बेतहाशा इज़ाफ़ा

रमज़ान में फलों की क़ीमतों में बेतहाशा इज़ाफ़ा

महंगाई का रोज़ेदारों की जेब पर काफ़ी असर पड़ रहा है। इफ़तार-ओ-सहरी में इस्तेमाल होने वाले फल और दीगर अशीया काफ़ी मिक़दार में दस्तयाब हैं लेकिन उन की क़ीमतें आसमान छू रही हैं।

महंगाई का रोज़ेदारों की जेब पर काफ़ी असर पड़ रहा है। इफ़तार-ओ-सहरी में इस्तेमाल होने वाले फल और दीगर अशीया काफ़ी मिक़दार में दस्तयाब हैं लेकिन उन की क़ीमतें आसमान छू रही हैं।

मुख़्तलिफ़ मुस्लिम अक्सरीयती इलाक़ों में जगह जगह फल ख़रीदने वालों की भीड़ नज़र आरही है और आज पहले रोज़े के मौक़ा पर दोपहर में ही लोग इफ़तार का सामान खरीदते नज़र आरहे थे।केला 50 से 60 रुपय दर्जन फ़रोख़त होरहा है जब कि इफ़तार की तैय्यारी में इस्तेमाल होने वाला फल अमरूद बाज़ार से नदारद है और अगर कहीं दस्तयाब है इंतिहाई नाक़िस क्वालिटी का है।

अन्ननास गुजिस‌श्ता बरस 40 से 50 रुपय फ़ी अदद मिल रहा था इस साल रमज़ान में 70 से 80 रुपय फ़ी अदद फ़रोख़त होरहा है।
दरमियाना क्वालिटी का सेब डेढ़ सौ रुपय और अच्छी क्वालिटी का सेब 200 रुपय फ़ी किलो फ़रोख़त होरहा है।बब्बू गोशा आम तौर पर 50 रुपय फ़ी किलो तक मिल जाता था उस वक़्त 80 रुपय फ़ी किलो ग्राम फ़रोख़त होरहा है ।

अनार भी महंगे दामों में फ़रोख़त होरहा है और अच्छी क्वालिटी का अनार 120 से डेढ़ सौ रुपय फ़ी किलो में फ़रोख़त होरहा है।पपीता जो पिछले रमज़ान में 20 रुपय किलो फ़रोख़त होरहा था इस रमज़ान में 40 से 50 रुपय फ़ी किलो ग्राम फ़रोख़त होरहा है।

TOPPOPULARRECENT