Thursday , September 21 2017
Home / India / रविश के एनडीटीवी पर पाबंदी और सुदर्शन का बलात्कार के आरोपी मालिक आजाद कैसे?- शहजाद पुनावाला

रविश के एनडीटीवी पर पाबंदी और सुदर्शन का बलात्कार के आरोपी मालिक आजाद कैसे?- शहजाद पुनावाला

अब्दुल हमीद अंसारी, संभल। आचार्य प्रमोद कृष्णन द्वारा आयोजित कल्कि महोत्सव में बड़े नेता पहुंचे। दिग्विजय सिंह, भूपिंदर सिंह हुड्डा, शहज़ाद पूनावाला शिवपाल यादव, संजय सिंह, स्वामी चक्रपानी महाराज और लगभग पुरा संत समाज भी मौजूद रहे।
img-20161107-wa0002
पिछले आठ साल से चला आ रहा कल्कि महोत्सव में हजारों की तादाद में लोग के अलग अलग हिस्सों आए और इस धार्मिक कार्यक्रम में शामिल हुए। खास बात यह रही कि इस प्रोग्राम में शहज़ाद पूनावाला के नेतृत्व में लगभग एक सौ से ज्यादा उलेमा इकराम भी आए कौमी इत्तेहाद के जलसे में शामिल हुए। आचार्य प्रमोद हमेशा से धर्म निरपेक्ष सोच पर चलने वाले संत माने जाते हैं। शहजाद पुनावाला का यह कहना था कि अगर आचार्य प्रमोद जी हमारे प्रोग्राम में शामिल होते हैं, इफ्तार हो या जलसा तो क्या हम उनके प्रोग्राम में हिस्सा नहीं ले सकते हैं?

आज से शुरु हुए पांच दिनों के कार्यक्रम में विवाद तब हुआ जब रोड़ा पैदा करने के लिए कुछ लोगों से कल्कि धाम का विरोध करवाया। माना जाता है कि आचार्य प्रमोद संघ परिवार और बीजेपी के खिलाफ बोलते हैं, इसलिए वीएचपी और आरएसएस उनके प्रोग्राम को असफल करवाने की कोशिश करती है। पिछले कुछ सालों में देश की सबसे बड़ी हस्तियों का कल्कि धाम आना हुआ है। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और देश के कद्दावर नेता फारुक अब्दुल्ला भी पिछले साल पहुंचे थे। इस प्रोग्राम में हिस्सा लेने दिग्विजय सिंह हर साल आते हैं। जाने माने संत स्वामी सुधांशु महाराज, स्वामी चक्रपानी और हजारों संत वहां पहुंचे।

सबसे पहले बोलते हुए कांग्रेस के श्री दिग्विजयसिंह ने उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार और केंद्र की मोदी सरकार पर जबर्दस्त हमला बोल दिया। जिस दबाव में आकर स्थानीय प्रशासन ने ने प्रोग्राम को रद्द करने के लिए जाल बिछाया उसकी भी निंदा की। उसके बाद महाराष्ट्र कांग्रेस के युवा नेता शहजादा पुनावाला ने अपनी बेहतरीन तकरीर में फिर्कापरशती पर हमला बोला। शहजाद पुनावाला ने कहा कि ‘दिल्ली की हवा खराब है और कल्कि धाम आना जरूरी था। दिल्ली में प्रदूषण फैल रहा है जो हमारे फेफड़ों पर हमला बोल रहा है। इसके पिछे PM 2.5 है। मगर जो दिल्ली और मुल्क में जहर फैलाया जा रहा है, वो सीधा मेरी रुह और मेरे हृदय पर हमला बोल रहा है। उसके लिए कौन जिम्मेदार है, यह सब जानते हैं। यह सांप्रदायिकता के के सिक्के के दो पहलू हैं। एक तरफ साक्षी महाराज और दुसरे तरफ मुस्लिम फिर्कापरशत!
पुनावाला ने कहा कि इसलाम दुसरे मज़हबो का एहतराम करना सिखाता है। कल्कि धाम को इंसानियत का प्रतीक और आचार्य प्रमोद को कौमी इत्तेहाद का एक प्रबल प्रवक्ता बताते हुए उन्होंने पूछा- “क्या मौजूदा हालात इमर्जेंसी जैसा माहौल नहीं बन चुका है मुल्क में?” आज एनडीटीवी जैसे चैनल पर सरकार पाबंदी लगा रही है मोदी सरकार, सवालों से डरती है मोदी सरकार। मन की बात करने वालों से काम कि बात पुछो तो देशद्रोही घोषित किए जाओगे। यह बात शहज़ाद पूनावाला ने अपनी तकरीर में कहा।
शहज़ाद पूनावाला ने समझाया कि संभल वो पवित्र भूमि है जिसका जिक्र पुरानों में है। यहां कल्कि का अवतार प्रस्तुत होगा। शहज़ाद पूनावाला ने कहा कि कलयुग में अपने सफेद घोड़े देवदूत पर सवार, एक हाथ में तलवार लिए दिल्ली में बैठे रावण को हराना जरूरी है।
स्वामी चक्रपानी और शिवपाल यादव ने भी जमकर हमला बोला, बीजेपी सरकार की मुखालफत करते हुए शिवपाल यादव ने कहा कि जिन्होंने भी कल्कि धाम के विषय में गलत निर्णय के जरिए कार्यक्रम को असफल करवाने की कोशिश की, उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।

प्रोग्राम का संचालन आचार्य प्रमोद जी ने खुद किया और शंकराचार्य भी शामिल हुए। मीडिया से बात करते वक्त शहज़ाद पूनावाला ने कहा- ‘एनडीटीवी पर तो मोदी सरकार ने पाबंदी लगा दी,मगर सुदर्शन चैनल के एडिटर पर रेप और यौन शोषण जैसे गंभीर आरोप लगे हैं, लेकिन उनको जहर फैलाने की खुली छूट है। यह कैसे मुमकिन है?

TOPPOPULARRECENT