Saturday , October 21 2017
Home / Uttar Pradesh / रसोई गैस के सारफीन को राहत, बिना आधार मिलेगी गैस

रसोई गैस के सारफीन को राहत, बिना आधार मिलेगी गैस

रसोई गैस सारफीन फिलहाल सब्सिडी वाले गैस सिलिंडर ले सकेंगे। अगले एक माह तक सब्सिडी वाले सिलिंडर के लिए सारफीन को आधार कार्ड की जरूरत नहीं होगी। पहले 31 दिसंबर तक यह मुद्दत थी। 27 दिसंबर को इस सिलसिले में इत्तिला जारी की गयी है। इस फैस

रसोई गैस सारफीन फिलहाल सब्सिडी वाले गैस सिलिंडर ले सकेंगे। अगले एक माह तक सब्सिडी वाले सिलिंडर के लिए सारफीन को आधार कार्ड की जरूरत नहीं होगी। पहले 31 दिसंबर तक यह मुद्दत थी। 27 दिसंबर को इस सिलसिले में इत्तिला जारी की गयी है। इस फैसले से गैस सारफीन के बड़े तबके को राहत मिली है। इंडेन के सीनियर ओहदेदार उदय कुमार ने कहा कि आधार सिडिंग को लेकर काम धीमा चल रहा है।

क्या था दस्तूरुल अमल

एक जनवरी से रांची, खूंटी, हजारीबाग, लोहरदगा व रामगढ़ के एलपीजी रसोई गैस सारफीन को बिना आधार कार्ड का अपने बैंक खाते से इनरोल किये सब्सिडी का फाइदा नहीं मिल पाता। यानी सिलिंडर की डिलीवरी के वक़्त गाहक को पूरी रकम चुकानी होती। बाद में उसके खाते में सब्सिडी की रकम आती। अब वैसे गाहक जिन्होंने सब्सिडी वाले नौ सिलेंडर नहीं लिये हैं, उन्हें पहले की ही तरह 441.50 रुपये चुका कर सिलेंडर मिलेंगे।

रसोई गैस सब्सिडी के लिए आधार कार्ड से जोड़ने का कैंपेन गुजिशता छह माह से चल रहा है, लेकिन अब तक आधे गाहकों ने भी सब्सिडी के लिए आधार कार्ड से अपडेट नहीं किया है। पांच जिलों में इंडेन के कुल 2,97,266 गाहक हैं। इनमें से 1,28,668 गाहकों ने ही अपने डिस्ट्रीबुटर के पास आधार कार्ड की फोटो कॉपी जमा की है। वहीं बैंकों की तरफ से 69,715 गाहकों के आधार कार्ड खाते से जोड़े गये हैं। कई गाहकों की शिकायत है कि बैंक में आधार कार्ड जमा करने के बाद भी उनके खाते अपडेट नहीं किये गये हैं।

TOPPOPULARRECENT