Wednesday , August 23 2017
Home / Bihar/Jharkhand / रांची की एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी में रैगिंग, छात्र को नंगा कर ठंडे पानी से नहलाया

रांची की एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी में रैगिंग, छात्र को नंगा कर ठंडे पानी से नहलाया

रांची : झारखंड की राजधानी रांची के बिरसा कृषि विश्वविद्यालय की वानिकी संकाय में पहले वर्ष के छात्रों के साथ रैगिंग किये जाने का मामला प्रकाश में आया है. घटना शनिवार रात की है. घटना की जानकारी पहले वर्ष के एक छात्र ने अपने परिजनों और बीएयू के अधिकारियों को दी. रातू रोड में रहनेवाले परिजनों ने इसकी जानकारी कांके थाने को दी. मामले को लेकर कांके थाने में प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है. बीएयू प्रशासन ने रैगिंग करनेवाले अंतिम वर्ष के तीन आरोपी छात्रों को निष्कासित कर दिया है.
छात्र की ओर से लिखित शिकायत में कहा गया है कि प्रथम वर्ष के आठ विद्यार्थियों (सभी भैरवी हॉस्टल में रहते हैं) को सारंडा हॉस्टल में रहनेवाले अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों ने रात 10 बजे अपने कमरे में बुलाया. उन्हें शराब पीने के लिए दी गयी.

कुछ विद्यार्थियों ने शराब पीने से इनकार कर दिया. इसके बाद उनके साथ मारपीट की गयी. छात्र ने शिकायत की है कि उसका बाल ट्रिमर से काट दिया गया. बाद में सीनियर छात्र प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों को हॉस्टल की छत पर ले गये. वहां उसे नंगा कर रात भर बांध कर नहलाया. सुबह चार बजे छोड़ने से पहले सुसाइडल नोट लिखवाया. लिखवाया गया कि वह अपनी मरजी से आत्महत्या कर रहा है, इसकी पूरी जिम्मेदारी उसकी होगी.

उसका नामांकन घटिया कॉलेज में हो गया है, इस कारण उसका मन नहीं लग रहा है. इसके बाद उसे नींद की दवा देकर कमरे में सुला दिया गया. सुबह उठने के बाद छात्र ने घटना की जानकारी बीएयू के निदेशक छात्र कल्याण डॉ एनके राय, डीन बीएयू डॉ राघव ठाकुर, वानिकी संकाय के पूर्व डीन डॉ एमएस सिद्दीकी और वर्तमान डीन डॉ महादेव महतो के अलावा अपने परिजनों को दी. अधिकारियों ने पूरे मामले से बीएयू के प्रभारी कुलपति डॉ नितिन मदन कुलकर्णी को अवगत कराया. प्रभारी कुलपति के निर्देश के बाद बीएयू प्रशासन ने तीन आरोपी विद्यार्थियों प्रशांत कुमार, प्रताप कुमार और फिरोज अहमद को निष्कासित कर दिया है. तीनों को हॉस्टल खाली करने का भी निर्देश दिया गया. कॉलेज हॉस्टल में शराब की बोतलें भी मिली हैं. कुलपति ने हॉस्टल के वार्डन और डिप्टी वार्डन पर कार्रवाई करने और आरोपी छात्रों पर प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश भी विश्वविद्यालय प्रशासन को दिया.

रैगिंग के शिकार सभी आठ छात्रों ने 26 नवंबर को बीएयू में नामांकन कराया था. इन्हें भैरवी छात्रावास में जगह मिली थी. छात्र के परिजन उसे लेकर कांके थाना पहुंचे. सीनियर छात्र फिरोज अहमद, प्रशांत कुमार, प्रताप सिंह सहित अन्य दो छात्रों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी. घटना के बाद से पांचों छात्र छात्रावास से फरार हैं. मामला दर्ज करने के बाद पुलिस तीनों आरोपी छात्रों को तलाश रही है. वानिकी छात्रावास के वार्डन एमएस मल्लिक व डिप्टी वार्डन बसंत उरांव दोनों लंबी छुट्टी पर हैं. छात्रों ने आरोप लगाया है कि तीनों आरोपी छात्र डिप्टी वार्डन बसंत उरांव के नजदीकी हैं.

सुबह में पूरे मामले की जानकारी मिली थी. मैंने तुरंत एक्शन लेने का निर्देश अधिकारियों को दिया था. तीन छात्रों को निष्कासित कर दिया गया है. प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश भी दे दिया गया है.
– डॉ नितिन मदन कुलकर्णी, कुलपति, बीएयू

मामला रैगिंग का लगता है. जिन तीन छात्रों की पहचान हुई है, उन्हें कॉलेज से निष्कासित कर दिया गया है. रैगिंग बरदाश्त नहीं की जा सकती है. आगे भी जो संभव होगा कार्रवाई होगी.
– महादेव महतो, डीन, वानिकी संकाय

TOPPOPULARRECENT