Thursday , September 21 2017
Home / Jharkhand News / रांची में मासूम की इशमतरेज़ि के बाद कत्ल पर बवाल, फायरिंग

रांची में मासूम की इशमतरेज़ि के बाद कत्ल पर बवाल, फायरिंग

रांची/रातू : पंडरा के शांति नगर में मंगल की शाम 13 साल की लड़की की उसके ही घर में इशमतरेज़ि के बाद गला घोंटकर कत्ल कर दी गई। कातिलों ने लड़की के पूरे जिश्म को तार से बांध दिया था। कत्ल के बाद मुजरिमों ने घर से 40 हजार रुपए नकद और जेवरात लूट लिए। इस वाकिया के मुखालियत में बुध को लोग सड़क पर उतर आए। दो बार जाम लगाया। जाम हटाने गए पुलिस से उनकी झड़प हो गई। इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। भीड़ ने जब पथराव किया तो पुलिस ने फायरिंग की। पथराव और लाठीचार्ज में छह पुलिस समेत कई लोग जख्मी हुए हैं। रांची में 12 घंटे के अंदर कत्ल की यह दूसरी वारदात है। इससे पहले मंगल सुबह आठ बजे बरियातू रोड पर रांची नर्सिंग होम के पास बंशी उरांव की कत्ल कर दी गई थी।
लड़की के भाई ने पुलिस को बताया कि मंगल की शाम उसकी बहन घर में अकेली थी। मां रात करीब नौ बजे जब सब्जी बेचकर घर पहुंची तो देखा कि बेटी बेहोश है। वह तार से बंधी हुई है। उसने फौरन बेटे को इत्तिला दी। अहले खाना उसे फौरन रिम्स ले गए। जहां डॉक्टरों ने उसे मारा हुआ एलान कर दिया। भाई ने बताया कि वह कभी घर से बाहर नहीं जाती थी। मंगल की शाम उसने बहन से छठ घाट पर जाने को कहा था, लेकिन वह नहीं गई। इमकान है कि उसने मुजरिमों को पहचान लिया होगा, इसी वजह से कत्ल कर दी गई।

बुध सुबह मोहल्ले के लोगों ने फ्रेंड्स कॉलोनी के नज़दिक जाम लगा दिया। पुलिस मौके पर पहुंची और समझा-बुझाकर लोगों को पुरअमन कराया। अहले खाना को तीन हजार रुपए मुआवजा दिया और मुजरिमों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का यकीन दिहानी दिया। इसके कुछ देर बाद सैकड़ों लोग वहां पहुंच गए। एक बार फिर सड़क जाम कर दिया। इत्तिला मिलते ही रातू थानेदार जब मौके पर पहुंचे तो लोगों ने गाली-गलौज शुरू कर दी। थानेदार से हाथापाई पर उतर आए। पुलिस ने लाठीचार्ज किया इससे गुस्साए लोगों ने पुलिस पर पथराव किया।

पोस्टमार्टम के बाद जैसे ही लाश मोहल्ले में पहुंचा, हालत कशीदा हो गई। सिल्ली डीएसपी अनिल शंकर ने जब लोगों को वहां से जबरन हटाने की कोशिश किया तो वे मुश्तईल हो गए। गाड़ी से लाश उतारने नहीं दिया। लोगों का कहना था कि मामले की सीआईडी जांच हो और मुजरिमों की गिरफ्तारी हो। एफएसएल टीम के वहां पहुंचकर जांच शुरू करने के बाद लोग पुर अमन हुए।

वाकिया के बाद पंडरा इलाका छावनी में तब्दील हो गया। जैप, रैफ, सीआईएसएफ और खातून फोर्स को तैनात कर दिया गया। देही एसपी राजकुमार लकड़ा समेत कई अफसर वहां पहुंचे और मामले की जानकारी ली। एसएफएल की टीम ने मौके से फिंगर प्रिंट लिया है। पुलिस ने सूरज और अनिल को हिरासत में लिया है।

 

TOPPOPULARRECENT