Sunday , September 24 2017
Home / Delhi / Mumbai / ‘राजीव गांधी दोबारा प्रधानमंत्री चुने गए होते तो अयोध्या में राम मंदिर निर्माण हो जाता’

‘राजीव गांधी दोबारा प्रधानमंत्री चुने गए होते तो अयोध्या में राम मंदिर निर्माण हो जाता’

मुंबई: भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी हालांकि नेहरू गांधी परिवार के कट्टर आलोचक और विरोधी रहे हैं और गांधी परिवार के खिलाफ हालिया अर्से के दौरान की गई कानूनी मुसीबतों के पीछे प्रेरित भी रहे हैं लेकिन आज उन्होंने अयोध्या विवाद की एकाग्रता में राजीव गांधी ‘सर्वश्रेष्ठ प्रयासों’ की भरपूर प्रशंसा की और कहा कि अगर वह (राजीव गांधी) दूसरा कार्यकाल के लिए चुने गए तो राम मंदिर भी बने होते।

सुब्रमण्यम स्वामी ने जो आज यहां ” अयोध्या में राम मंदिर क्यों और कैसे ‘के आभरिनवान एक सेमिनार को संबोधित कर रहे थे कहा कि राजीव गांधी को बहुत अच्छी तरह जानता हूँ। अगर वे फिर एक बार प्रधानमंत्री चुने गए तो निश्चित रूप से इसी स्थल पर राम मनदिर बनादिये होते (जहां बाबरी मस्जिद खड़ी थी) उन्होंने (राजीव गांधी) ने ही राम मंदिर (बाबरी मस्जिद) बातें खुलवाया था और राम मंदिर के निर्माण के लिए शीला नाज् (शिलान्यास) की अनुमति दी थी।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

” भाजपा नेता स्वामी ने नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उनके बेटे  उपाध्यक्ष राहुल को अदालत में लाया था लेकिन आज उन्होंने कहा कि राजीव गांधी भी राम राज्य के सिद्धांत का पालन करना शुरू कर चुके थे लेकिन इन की असमय मृत्यु के बाद हालात बदल गए। सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि बाबरी मस्जिद। राम जन्मभूमि मामले सुप्रीम कोर्ट में दैनिक सुनवाई पर सहमति राय बनाने के लिए वह मसाई में व्यस्त हैं।

पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी ने कहा कि वह इस मामले में शामिल मुस्लिम नेताओं से भी अपनी इस प्रस्ताव पर बातचीत कर रहे हैं और वे (मुस्लिम नेताओं) ने यहां तक ​​कि सैद्धांतिक तौर पर इस प्रस्ताव से सहमत भी किया है। लेकिन अदालत में इस प्रस्ताव का समर्थन के लिए जब उन्हें (मुस्लिम नेताओं) की बारी आई तो वह चुप हो गए। भाजपा नेता ने उम्मीद जताई कि सुप्रीम कोर्ट का अंतिम निर्णय ही अयोध्या के विवादित स्थल पर राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त कर सकता है।

सुब्रमण्यम स्वामी ने दावा किया कि इस साल के अंत से पहले निर्माण शुरू हो सकता है। इस सवाल पर कि क्या देश को स्कूलों, दवाख़ानों, सड़कों और टाईलेटस की जरूरत है या फिर राम मंदिर की आवश्यकता है? । डॉ सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि ” यह (विकास कार्य) सरकार की जिम्मेदारी है और सरकार सबसे अच्छा तरीक़े में अपना काम कर रही है। इन कार्यों पर सरकार ध्यान देगी। मुझे (मंदिर के निर्माण के लिए) मेरे काम करने दिजिए। ‘

TOPPOPULARRECENT