Monday , October 23 2017
Home / Khaas Khabar / राज्य सभा में सदर नशीन हामिद अंसारी पर मायावती की ब्रहमी

राज्य सभा में सदर नशीन हामिद अंसारी पर मायावती की ब्रहमी

बी एस पी की सरबराह मायावती ने एफडी आई के मसले पर यू पी ए हुकूमत को बचाने के चंद दिन बाद ही इस हुकूमत के ख़िलाफ़ जारिहाना तीव्र इस्तेमाल किया।

बी एस पी की सरबराह मायावती ने एफडी आई के मसले पर यू पी ए हुकूमत को बचाने के चंद दिन बाद ही इस हुकूमत के ख़िलाफ़ जारिहाना तीव्र इस्तेमाल किया।

दर्ज फ़हरिस्त तबक़ात-ओ-क़बाइल कोटा बिल की मंज़ूरी में ताख़ीर पर ब्रहमी-ओ-बेचैनी का इज़हार करते हुए उन्हों ने राज्य सभा के सदर नशीन हामिद अंसारी को निशाना बनाया और इल्ज़ाम आइद किया कि हुकूमत इस मसले पर संजीदा नहीं है। मायावती ने इस मसले पर हुकूमत के ख़िलाफ़ सख़्त मौक़िफ़ इख़तियार करने की धमकी भी दी।

मायावती ने हामिद अंसारी पर रास्त तन्क़ीद करते हुए सारे राज्य सभा को हैरत-ओ-सकता में डाल दिया। उन्हों ने इल्ज़ाम आइद किया कि सदर नशीन राज्य सभा, वकफ़ा-ए-सवालात के बाद एवान में नज़र ही नहीं आते। मर्कज़ी हुकूमत, बी एस पी के तआवुन से इस बिल की मंज़ूरी के लिए कोशां है जबके समाजवादी पार्टी (एस पी) एस मुसव्वदा क़ानून की सख़्ती से मुख़ालिफ़त कररही है लेकिन इस बिल की मंज़ूरी पर हुकूमत को इन दोनों जमातों की यक़ीनी ताईद दरकार है।

राज्य सभा में पारलीमानी कार्रवाई आज अपनी निचली तरीन सतह पर पहूंच गई है। बी एस पी की सरबराह मायावती ने राज्य सभा के सदर नशीन हामिद अंसारी पर बरसते हुए एवान-ए-बाला को सख़्त सदमे से दो-चार कर दिया। वो पार्लीमैंट के दोनों एवानों की कार्रवाई में मुसलसल तीसरे दिन भी ख़लल, तात्तुल और अलतवा पर ब्रहम थीं।

मायावती जो सरकारी मुलाज़मतों में तरक़्क़ी के लिए दर्ज फ़हरिस्त तबक़ात-ओ-क़बाईल को कोटा की फ़राहमी से मुताल्लिक़ बिल पर ग़ौर-ओ-बेहस में ताख़ीर पर ब्रहम थीं। उन्हों ने एवान में पिछ्ले चंद दिन से लगातार बद निज़मी के लिए बराह-ए-रास्त सदर नशीन हामिद अंसारी को निशाना बनाया और इस मसले पर उन से वज़ाहत का मुतालिबा किया।

एक तरफ़ अपनी नाज़ेबा ब्रहमी के ज़रीये मायावती ने एवान-ए-बाला को सख़्त सदमे से दो-चार कर दिया तो दूसरी तरफ़ उन की पार्टी के दुसरे अरकान ने एवान-ए-ज़ेरीं (लोक सभा) की कार्रवाई को मफ़लूज कर दिया। एवान-ए-बाला में मायावती ने दिन 11 बजकर 30 मिनट पर ब्रहमी का इज़हार किया जब वकफ़ा-ए-सवालात जारी था और वज़ीर-ए-तजारत-ओ-टेक्सटाइल आनंद शर्मा मुख़्तलिफ़ सवालात का जवाब दे रहे थे। मायावती आज अपनी पार्टी के दुसरे अरकान के साथ एवान में पहूंचें और नशित पर बैठने से पहले ही अपनी ब्रहमी का इज़हार शुरू कर दिया।

उन्हों ने कहा कि पिछ्ले चंद दिन से हम देख रहे हैं कि दोपहर 12 बजे के बाद एवान की कार्रवाई चलने नहीं दी जा रही है। आप एवान के सदर नशीन हैं और ये आप की ज़िम्मेदारी है कि एवान की कार्रवाई को यक़ीनी बनाईं। सदर नशीन ने उन्हें समझाने की कोशिश की लेकिन वो कुछ भी समझने के लिए तैयार नहीं थीं और कहा कि में कुछ भी सुनना नहीं चाहती।

एवान की मूसिर कार्रवाई को आख़िर कौन यक़ीनी बनाएगा? मायावती ने मूसिर अंदाज़ में एवान की कार्रवाई चलाने पर इसरार किया और कहा कि दोपहर 12 बजे के बाद आप (सदर नशीन) एवान में नज़र नहीं आते। आख़िर ये किस किस्म का एवान है?

मायावती के इन सख़्त-ओ-नाज़ेबा रिमार्कस पर अमलन दिलबर्दाशता नज़र आने वाले मुहम्मद हामिद अंसारी ने कहा कि हर किसी की ये ज़िम्मेदारी है कि एवान की कार्रवाई को यक़ीनी बनाईं। अंसारी ने मज़ीद कहा कि आप (मायावती) एक सीनीयर रुकन हैं। तमाम अरकान के तआवुन से एवान की कार्रवाई चलाई जा सकती है, सदर नशीन ने मायावती से मुख़ातब होते कहा कि सर-ए-दस्त एवान की कार्रवाई जारी है, बराहे मेहरबानी आप एवान की कार्रवाई को चलने दीजिए।

सदर बी एस पी की उन पर तन्क़ीद से रंजीदा सदर नशीन राज्य सभा हामिद अंसारी ने कहा कि वो उलझन ज़दा हैं। एसे हालात में काम करने से क़ासिर हैं। इस तबसरह के वक़्त वज़ीर-ए-पार्लीमानी उमूर और क़ाइदीन अप्पोज़ीशन राज्य सभा भी मौजूद थे। लेकिन मायावती ने सदर नशीन की इस दरख़ास्त को क़बूल करने से इनकार कर दिया और उन की पार्टी के अरकान दलित विरोधी सरकार नहीं चलेगी (दलितों की मुख़ालिफ़ हुकूमत नहीं चलेगी) के नारे लगाना शुरू कर दिये।

हंगामा आराई और नारा बाज़ी के दरमयान सदर नशीन ने एवान की कार्रवाई को दोपहर के वक़फ़ा तक मुल्तवी कर दिया। पारलीमानी रवायात के मुताबिक़ एवान की कार्रवाई के बारे में कोई रुकन कुर्सी-ए-सदारत से सवाल नहीं करसकता। वक़फ़ा के बाद जब एवान की कार्रवाई दुबारा शुरू हुई, बी एस पी अरकान दुबारा एवान के वस्त में जमा होकर नारा बाज़ी पर उतर आए। हंगामा आराई जारी ही थी कि नायब सदर नशीन पी जे कोरईन ने निस्फ़ घंटे तक कार्रवाई मुल्तवी करने का एलान किया।

दोपहर 12 बजकर 30 मिनट पर तीसरी मर्तबा जब एवान की कार्रवाई शुरू हुई, लगातार तीसरी मर्तबा भी शोर-ओ-गुल के मनाज़िर का इआदा हुआ और कोरईन ने दिन भर के लिए एवान की कार्रवाई को मुल्तवी करने का एलान किया।

TOPPOPULARRECENT