Thursday , August 17 2017
Home / India / राम मंदिर रिमार्कस, उत्तरप्रदेश के वज़ीर बरतरफ़

राम मंदिर रिमार्कस, उत्तरप्रदेश के वज़ीर बरतरफ़

लखनउ: उत्तरप्रदेश के चीफ़ मिनिस्टर अखिलेश यादव ने समाजवादी पार्टी के लीडर ओम पाल नहिरा को मुमलिकती वज़ीर के ओहदे से बरतरफ़ कर दिया क्योंकि उन्होंने अयोध्या और मथुरा में मंदिरों की तामीर के लिए मुसलमानों को मदद करने का मश्वरा दिया था। समाजवादी पार्टी के तर्जुमान और काबीनी वज़ीर राजिंदर चौधरी ने पी टी आई से आज कहा कि नहिरा को चीफ़ मिनिस्टर ने कल बरतरफ़ कर दिया।

चीफ़ मिनिस्टर अखिलेश यादव जो हुक्मराँ समाजवादी पार्टी के रियासती सदर भी हैं, ये क़दम एक उसे वक़्त उठाया है जब राम मंदिर का मसला फिर एक मर्तबा मौज़ू बन गया जब विश्वा हिंदू परिषद की जानिब से राम मंदिर की तामीर के लिए दो लारियों के ज़रीया अयोध्या को पत्थर पहुंचाए गए।

ओम पाल नहिरा ने 23 दिसम्बर को मुनाक़िदा एक तक़रीब में कहा था कि मुसलमानों को चाहिए कि वो अयोध्या और मथुरा के मुतनाज़ा मुक़ामात पर मंदिरों की तामीर के लिए आगे आएं और मदद करें ताकि विश्वा हिंदू परिषद जैसी तंज़ीमें अपनी शनाख़्त से महरूम हो सकें।

नहिरा ने बिजनौर में कहा था कि राम मंदिर अगर अयोध्या में नहीं तो फिर कहाँ तामीर किया जाएगा? ये एक हस्सास और जज़बाती मसला है। मथुरा में जहां हम लार्ड कृष्णा की पूजा करते हैं वहां कैसे कोई मस्जिद हो सकती है। मुसलमानों को चाहिए कि वो इन मसाइल को ख़त्म करने के बारे में सोचें और दरहक़ीक़त वो कारसेवा के लिए आगे आएं और कहें कि इन मुक़ामात पर मंदिर तामीर किए जाएं।

हमें इन (वी एचपी) के जाल में नहीं फँसना चाहिए।

TOPPOPULARRECENT