Tuesday , October 24 2017
Home / Hyderabad News / राय देने से गुरेज़ पर मर्कज़ फ़ैसला कर दें, कांग्रेस एम पी पूनम प्रभाकर का ब्यान

राय देने से गुरेज़ पर मर्कज़ फ़ैसला कर दें, कांग्रेस एम पी पूनम प्रभाकर का ब्यान

हैदराबाद-04 अप्रैल(सियासत न्यूज़) तेलंगाना की नुमाइंदगी करने वाले कांग्रेस के रुकन पार्लीमैंट मिस्टर पूनम प्रभाकर ने मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला मिस्टर पी चिदम़्बरम की जानिब से चार सयासी जमातों की तेलंगाना पर राय हासिल ना होने का बह

हैदराबाद-04 अप्रैल(सियासत न्यूज़) तेलंगाना की नुमाइंदगी करने वाले कांग्रेस के रुकन पार्लीमैंट मिस्टर पूनम प्रभाकर ने मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला मिस्टर पी चिदम़्बरम की जानिब से चार सयासी जमातों की तेलंगाना पर राय हासिल ना होने का बहाना करते हुए तेलंगाना मसला को टालने की बजाय चार जमातों को अप्रैल के अवाख़िर तक मोहलत देते हुए उन्हें अपने मौक़िफ़ से वाक़िफ़ कराने पर ज़ोर दें।

बसूरत-ए-दीगर 7 दिसंबर 2009-ए-को इन जमातों की जानिब से तेलंगाना पर दी गई राय को ही क़तई तसव्वुर करते हुए अलहदा तेलंगाना रियासत की तशकील के ऐलान का मश्वरा दिया। आज सी एलपी ऑफ़िस असैंबली में प्रैस कान्फ़्रैंस से ख़िताब करते हुए उन्हों ने ये बात बताई।

इस मौक़ा पर कांग्रेस के रुकन पार्लीमैंट मिस्टर राजिया भी मौजूद थी। मिस्टर पूनम प्रभाकर ने कहा कि तेलंगाना की नुमाइंदगी करने वाले कांग्रेस के अरकान-ए-पार्लीमैंट तेलंगाना तहरीक चला रहे हैं, चीफ़ मिनिस्टर की तबदीली का कोई एजंडा नहीं है और ना ही सयासी पार्टी की तशकील का कोई कोई इरादा रखते हैं। उन्हों ने तलंगाना के लिए ख़ुदकुशी करने वाले तलबा-ओ-नौजवानों के ख़िलाफ़ चीफ़ मिनिस्टर के रिमार्कस की सख़्त मुज़म्मत करते हुए कहा कि चीफ़ मिनिस्टर को अपना रवैय्या तबदील करना चाहिए उन्हों ने कहा कि तेलंगाना के क़ाइदीन सिर्फ़ अलहदा तलंगाना रियासत चाहते हैं, मुख़ालिफ़ तेलंगाना ताक़तों की कभी तौहीन नहीं की।

मिस्टर प्रभाकर ने सदर तेलगु देशम मिस्टर चंद्रा बाबू नायडू के सिंगा रेड्डी के फ़सादज़दा इलाक़ा का दौरा करने पर रद्द-ए-अमल ज़ाहिर करते हुए कहा कि मिस्टर नायडू ने फ़साद मुतास्सिरीन से मुलाक़ात की ही, मगर कभी तेलंगाना केलिए जान क़ुर्बान करने वाले तलबा-ओ-नौजवानों के अफ़राद ख़ानदान से मुलाक़ात करने की कोशिश नहीं की और ना तेलंगाना केलिए 40 दिन तक जारी आम हड़ताल पर रद्द-ए-अमल का इज़हार किया।

उन्हों ने कांग्रेस की नौमुंतख़ब रुकन राज्य सभा रेनूका चौधरी के इलावा तलंगाना-ओ-ख़ुदकुशियों पर इश्तिआल अंगेज़ ब्यानात देने वाले क़ाइदीन के ख़िलाफ़ क़तल का मुक़द्दमा दर्ज करने का मुतालिबा किया और रेनूका चौधरी को मश्वरा दिया कि वो तेलंगाना तहरीक में शामिल हो जाएं या अपना मुंह बंद रखें। वक़्फ़ अराज़ी पर हाइकोर्ट फ़ैसला पर कहा कि वक़्फ़ जायदादों के तहफ़्फ़ुज़ की ज़िम्मेदारी तमाम सयासी जमातों बिलख़सूस अक़ल्लीयतों के मसाइल की नुमाइंदगी करने वाली जमात पर ही।

TOPPOPULARRECENT