Sunday , October 22 2017
Home / Crime / रावड़ी शेटर फ़ैयाज़ का बेदर्दाना क़त्ल

रावड़ी शेटर फ़ैयाज़ का बेदर्दाना क़त्ल

मादनापेट, नहरूनगर में पेश आए सनसनीखेज़ क़त्ल की वारदात में रैन बाज़ार के रूडी शेटर मुहम्मद फ़ैयाज़ अली उर्फ़ सुहेल का बेदर्दाना तौर पर क़त्ल कर दिया गया।

मादनापेट, नहरूनगर में पेश आए सनसनीखेज़ क़त्ल की वारदात में रैन बाज़ार के रूडी शेटर मुहम्मद फ़ैयाज़ अली उर्फ़ सुहेल का बेदर्दाना तौर पर क़त्ल कर दिया गया।

फ़ैयाज़ आज मस्जिद इलहि में नमाज़ जुमा की अदायगी के बाद अपने मकान लैट रहा था कि इस पर अचानक हमला करके सर पर वज़नी पत्थर डाल दिया और बादअज़ां तलवारों से कई वार किए गए।

फ़ैयाज़ दवाख़ाना को मुंतक़ली के दौरान हलाक होगया। क़त्ल की वारदात के बाद नहरूनगर और मौलाना आज़ादनगर के इलाक़ों में सनसनी फैल गई।

मौक़ा-ए-वारदात पर पुलिस के आला ओहदेदार पहुंच कर सुराग़ रसानी दस्ता क्लोज़ टीम को तलब किया और वहां से फॉरेंसिक माहिरीन ने मक़्तूल के ख़ून के नमूने , बाल और दुसरे अश्या हासिल किए।

टास्क फ़ोर्स साउथ ज़ोन फ़ौरी हरकत में आकर क़त्ल में शामिल तीन अफ़राद ग़फ़ूर , जहांगीर और दुसरे को गिरफ़्तार करके ए सी पी संतोषनगर के हवाले कर दिया।

ज़राए ने बताया कि पिछ्ले चंद अर्सा से फ़ैयाज़ की कुछ मुक़ामी अफ़राद से मुख़ासमत चल रही थी जिसके बाइस वहां के अवाम ने कमिशनर पुलिस को 29 अक्टूबर को तहरीरी नुमाइंदगी की थी।

नुमाइंदगी में तक़रीबन 32 मुक़ामी अफ़राद ख़वातीन ने दस्तख़त करके फ़ैयाज़ रावड़ी शेटर और उसके बरादर-ए-निसबती यासीन की मुबय्यना ज़्यादतियों का ख़ुलासा किया गया।

कमिशनर पुलिस ने मुक़ामी अफ़राद की शिकायत पर ए सी पी संतोषनगर को फ़ैयाज़ के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने का हुक्म दिया था। ज़राए ने बताया कि मक़्तूल रूडी शेटर मुक़ामी अफ़राद को इस कार्रवाई पर संगीन नताइज का इंतिबाह दे रहा था और अवाम ख़ुद को ग़ैर महफ़ूज़ महसूस कर रहे थे।

पुलिस को शुबा हैके फ़ैयाज़ की तरफ से इंतेक़ामी कार्रवाई से बचने चंद अफ़राद ने इसका क़त्ल कर दिया। फ़ैयाज़ पुराना शहर का एक ख़तरनाक रावड़ी शेटर था और 1996 में जुर्म की दुनिया में क़दम रखा था।

फ़ैयाज़ 59 सरका , रहज़नी , अग़वा , इक़दामे क़त्ल ,और जबरन वसूली जैसे संगीन वारदातों में शामिल् था। पुलिस ने बताया कि मुहम्मद फ़ैयाज़ काला पत्थर पुलिस स्टेशन के ख़तरनाक रूडी शेटर अय्यूब ख़ान का साथी था और शहर के ऐडवोकेट क़ुद्दूस ग़ौरी के क़त्ल की साज़िश तैयार की थी लेकिन टास्क फ़ोर्स ने उसे नाकाम बना कर 2008 में उसे गिरफ़्तार करलिया था।

टास्क फ़ोर्स ने फ़ैयाज़ को साल 2008 में उस वक़्त महाराष्ट्रा पुने से गिरफ़्तार करलिया था जब इस के ख़िलाफ़ सिटी पुलिस ने पी डी एक्ट के तहत उसे गिरफ़्तार करने के अहकामात जारी किए थे और उसे तवील अर्सा तक जेल में रखा गया था। जेल से रिहा होने के बाद वो दुबारा सरगर्म होगया।

TOPPOPULARRECENT