Monday , October 23 2017
Home / Khaas Khabar / राष्ट्रपति चुनाव नहीं लड़ेंगे कलाम?

राष्ट्रपति चुनाव नहीं लड़ेंगे कलाम?

पूर्व राष्ट्रपति ए.पी.जे.

पूर्व राष्ट्रपति ए.पी.जे. अब्दुल कलाम राष्ट्रपति चुनाव नहीं लड़ना चाहते हैं। पीटीआई के मुताबिक एनडीए के पास जीत के लिए जरूरी बहुमत न होने के कारण कलाम के प्रेजिडेंट चुनाव में खड़े होने की संभावना बेहद कम है। इससे पहले एनडीए ने कलाम को मनाने के लिए पूरा जोर लगा दिया, जिससे यूपीए के उम्मीदवार प्रणव मुखर्जी को दमदार चुनौती पेश की जा सके। बीजेपी के सबसे सीनियर नेता लालकृष्ण आडवाणी ने दो बार अपने दूत सुधींद्र कुलकर्णी को कलाम के पास भेजा और उसके बाद उनसे खुद बात की। सूत्रों के मुताबिक कलाम ने कुलकर्णी के माध्यम से चुनाव में खड़ा न होने का संदेश भिजवाया।

जयललिता और नवीन पटनायक के उम्मीदवार पी.ए. संगमा को ममता बनर्जी और शिवसेना के समर्थन न देने के ऐलान के बाद एनडीए की पूरी कोशिश थी कि प्रणव के खिलाफ कलाम को विपक्ष के सर्वसम्मत उम्मीदवार के रूप में पेश किया जाए। इस बीच कलाम के अलावा किसी और को सपोर्ट न करने का ऐलान कर चुके बाल ठाकरे से प्रणव मुखर्जी ने बात की और अपने लिए समर्थन मांगा।

ममता लेंगी बड़ा फैसला
दूसरी तरफ, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी सोमवार को कोलकाता में शाम 6 बजे एक अहम बैठक करने जा रही हैं। इस बैठक में टीएमसी के सभी सांसदों, विधायकों और मंत्रियों को शामिल होने का फरमान भेज दिया गया है। माना जा रहा है कि बैठक में ममता यह फैसला ले सकती हैं कि वह यूपीए के साथ रहेंगी या नहीं?

राष्ट्रपति पद के लिए प्रणव मुखर्जी को दावेदार घोषित कर चुकी यूपीए समते सभी पार्टियों और एनडीए की नजरें कलाम पर टिकी हैं। कलाम का फैसला राष्ट्रपति चुनाव पर एनडीए का रुख तो तय करेगा ही, साथ में यूपीए के खिलाफ राजनीतिक लामबंदी को भी बढ़ाएगा। ऐसी संभावना है कि संगमा से मुलाकात के बाद कलाम इस पर कोई फैसला लेंगे। संगमा दोपहर लंच पर कलाम से मिलने वाले थे। राष्ट्रपति चुनाव मुद्दे पर ही बीजेपी ने आज रात 9 बजे अपनी कोर कमेटी की बैठक बुलाई है। संगमा ने ममता बनर्जी से अपने लिए समर्थन मांगा लेकिन तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो ने उनसे ही कलाम के समर्थन में बैठने की अपील कर डाली।

TOPPOPULARRECENT