Tuesday , October 17 2017
Home / Business / रास्त नक़द रक़म मुंतक़ली स्कीम कोई पेचीदा प्रोजेक्ट नहीं :चिदम़्बरम

रास्त नक़द रक़म मुंतक़ली स्कीम कोई पेचीदा प्रोजेक्ट नहीं :चिदम़्बरम

पडुचेरी, 25 दिसंबर: ( पीटीआई ) मर्कज़ी वज़ीर फायनेंस पी चिदम़्बरम ने आज कहा कि नक़द रक़म की रास्त मुंतक़ली स्कीम जिसका निशाना अवामी तबक़ात हैं एक सादा और ग़लतीयों से पाक स्कीम है इंतिज़ामात किए जा रहे हैं ताकि इस स्कीम पर टेक्नालोजी इस्

पडुचेरी, 25 दिसंबर: ( पीटीआई ) मर्कज़ी वज़ीर फायनेंस पी चिदम़्बरम ने आज कहा कि नक़द रक़म की रास्त मुंतक़ली स्कीम जिसका निशाना अवामी तबक़ात हैं एक सादा और ग़लतीयों से पाक स्कीम है इंतिज़ामात किए जा रहे हैं ताकि इस स्कीम पर टेक्नालोजी इस्तेमाल करते हुए अमल आवरी की जा सके वो पडुचेरी की सरकारी और दीगर बैंकों के एक इजलास से ख़िताब कर रहे थे जिसका एहतिमाम रियास्ती सतह की बैंकर्स कमेटी ने किया था चिदम़्बरम ने कहा कि दस्तयाब बैंकिंग टेक्नोलोजी के ज़रीया ये स्कीम बाआसानी रूबा अमल लाई जा सकेगी ।

ये एक आसान प्रोग्राम है और इसके इंतिज़ामात में भी कोई पेचीदगी नहीं है । उन्होंने कहा कि बैंकिंग टेक्नोलाजी ब्लैक बॉक्स टेक्नोलाजी है और मुकम्मल तौर पर इस में ग़लतीयों ,करप्शन या इंसानी मुदाख़िलत की कोई गुंजाइश नहीं है । उन्होंने कहा कि मर्कज़ दो लाख करोड़ रुपये मुख़्तलिफ़ स्कीमों के तहत बतौर सब्सीडी नामज़द तबक़ात के लिए मुल्क गीर सतह पर जारी करेगा ।

उन्होंने कहा कि हुकूमत का मक़सद इस बात को यक़ीनी बनाना है कि रास्त नक़द रक़म मुंतक़ली स्कीम 2013 के इख्तेताम तक पूरे मुल्क में नाफ़िज़-उल-अमल हो जाए ।

उन्होंने बैंकर्स और ओहदेदारों से ख़ाहिश की कि वो इस बात को यक़ीनी बनाए कि इस स्कीम के इस्तिफ़ादा कुनुन्दगान को इस स्कीम के फ़वाइद मुकम्मल तौर पर पहुंचाए जाएं । उन्होंने कहा कि मर्कज़ की ज़ेर सरपरस्ती 15 स्कीमों पडुचेरी में नाफ़िज़-उल-अमल हैं ।

चिदम़्बरम ने एतिमाद ज़ाहिर किया कि रास्त नक़द रक़म मुंतक़ली स्कीम के इस्तिफ़ादा कुनुन्दगान आधार से मरबूत बैंक एकाउंट्स खोलेंगे और यक्म जनवरी से पडुचेरी में इस स्कीम पर बला रुकावट अमल आवरी की जाएगी । उन्होंने बैंकों और सरकारी महकमों की जानिब से इस स्कीम के मर्कज़ी ज़ेर-ए-इंतिज़ाम इलाक़े में अमल आवरी के लिए तैयारीयों का जायज़ा भी लिया ।

TOPPOPULARRECENT