Saturday , October 21 2017
Home / Hyderabad News / रियासत की सयासी सूरत-ए-हाल इंतिहाई खराब

रियासत की सयासी सूरत-ए-हाल इंतिहाई खराब

हैदराबाद 17 अप्रैल: रियासत में इंदर माँ हसतम और इंदर माँ कल्लालो सकीमात के नाम पर चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी के दौरा ए अज़ला का मज़ाक़ उड़ाते हुए सीनीयर क़ाइद तेलुगू देश‌म पार्टी-ओ-साबिक़ वज़ीर जी मुद्दो कर शुण्मा नायडू ने कहा कि

हैदराबाद 17 अप्रैल: रियासत में इंदर माँ हसतम और इंदर माँ कल्लालो सकीमात के नाम पर चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी के दौरा ए अज़ला का मज़ाक़ उड़ाते हुए सीनीयर क़ाइद तेलुगू देश‌म पार्टी-ओ-साबिक़ वज़ीर जी मुद्दो कर शुण्मा नायडू ने कहा कि एन किरण कुमार रेड्डी अपनी पार्टी के अरकान पार्लीमान‍ ओ‍ असेम्बली से बचने के लिए मज़कूरा सकीमात के नाम पर अज़ला के दौरों में मसरूफ़ होचुके हैं।

लेकिन हक़ीक़त तो ये है कि चीफ़ मिनिस्टर अपने आबाई ज़िला चित्तूर में कितने मंडलस पाए जाते हैं, उन की हक़ीक़ी तादाद से तक वाक़िफ़ नहीं हैं।

आज यहां मीडीया प्वाईंट पर अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए जी मुद्दो कर शुण्मा नायडू ने एससी एसटी सब प्लान की मंज़ूरी दिए जाने से मुताल्लिक़ काफ़ी तशहीर(पब्लिकसिटी) तो कररहे हैं लेकिन पोली वीनदोला और पीलीरो के मुक़ामात पर एस सी और एस टी तबक़ात के लिए मुख़तस करदा रक़ूमात बड़े पैमाने पर किसी और अग़राज़ के लिए इस्तेमाल किए गए।

लिहाज़ा उन एससी एसटी तबक़ात के लिए मुख़तस करदा रक़ूमात कुन अग़राज़ के लिए इस्तेमाल किए गए, उन की मुकम्मल तौर पर तहक़ीक़ात करवाने का रियास्ती हुकूमत से पुरज़ोर मुतालिबा किया।

जी मुद्दो कर शुण्मा नायडू ने रियासत की सियासी सूरत-ए-हाल को इंतिहाई खराब बताते हुए कहा कि एक तरफ़ रियास्ती वुज़रा के नाम सी बी आई चार्ज शीट में शामिल किए जा रहे हैं तो दूसरी तरफ़ बाअज़ अफ़राद जेल में रह कर पार्टी चला रहे हैं।

जबके ख़ुद चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी हालात से मायूस होकर सड़कों पर निकल गए हैं और उन के प्रोग्रामों में अवाम की इंतिहाई कम तादाद में मौजूदगी के बाइस आर टी सी बसों के ज़रीये ग़रीब अवाम को मुख़्तलिफ़ नौईयत के तीक़नात दे कर चीफ़ मिनिस्टर के जलसों में लेजाया जा रहा है।

तेलुगू देशम पार्टी तर्जुमान-ओ-साबिक़ वज़ीर ने रियास्ती हुकूमत और चीफ़ मिनिस्टर को अपनी सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि एन किरण कुमार रेड्डी अपनी तशहीर (पब्लिकसिटी)के लिए करोड़ों रुपये ख़र्च कररहे हैं।

TOPPOPULARRECENT